तमिलनाडु और केरल के कई जिलों में येलो अलर्ट जारी, तूफान मचा सकता है भारी तबाही

तमिलनाडु में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, 6 जिलों के स्कूल-कॉलेज बंद

तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली में 25 फुट गहरे बोरवेल में गिरा 2 साल का बच्चा, 16 घंटों से जारी रेस्कयू ऑपरेशन जारी

शी जिनपिंग के भारत दौरे का दूसरा दिन आज, पीएम मोदी के साथ इन मुद्दों पर होगी चर्चा

महाबलीपुरम में पीएम मोदी ने किया चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का स्वागत

महाबलीपुरम में पीएम मोदी और शी जिनिपिंग के स्वागत के लिए 18 तरह की सब्जियों और फलों से सजाया गया गेट

तमिलनाडु: आतंकवादी अलर्ट के बीच NIA ने कोयंबटूर में 5 स्थानों पर की छापेमारी, मोबाइल, सिम कार्ड, लैपटॉप और पेन ड्राइव बरामद

2019-10-31_Tamilnadu.jpg

दिवाली बीत जाने के बाद मौसम ने करवट लेना शुरू कर दिया है. देश के एक कोने में जहां ठंड की शुरूआत होने जा रही है वहीं दूसरी तरफ अरब सागर से उठा साल का चौथा तूफान 'महा' भारत के दक्षिणी राज्यों में तबाही के लिए तैयार हो रहा है. इस तूफान की आने की आशंका के कारण तमिलनाडु के 6 जिलों में स्कूल बंद कर दिए गए है. इसके साथ ही केरल के 12 जिलों में येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है. 

मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली मौसम एजेंसी स्काईमेट के अनुसार बंगाल की खाड़ी पर बना निम्न दबाव और गहरा हो गया है. जिसके कारण दक्षिण- पूर्व अरब सागर की तरफ से तेज हवाएं चल रही है, इसी कारण तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में भारी बारिश हो रही है. इसके साथ ही समुद्र तटों में 15 फीट तक ऊंची लहरें उठ रही हैं. मौसम के खतरनाक तेवर को देखते हुए,मौसम वैज्ञानिकों ने मछुआरों को आगाह किया है कि वे कुछ दिन समुद्र में न जाए. 

आपको बता दें कि इस साल दक्षिण भारत में वायु, हिका और क्यार नाम से तीन चक्रवाती तूफान पहले ही आ चुके हैं. इन तूफानों ने भारत के दक्षिण राज्यों में काफी तबाही मचाई थी. जिन राज्यों में तूफान आने वाली है. वहां की सरकार ने पहले से हाई अलर्ट जारी कर दिया है. वहीं पिछले 24 घंटे में तमिलनाडु के 10 जिलों में बहुत भारी बारिश हुई है. जो सामान्य से 244% ज्यादा है.



loading...