पोवार को दोबारा कोच बनाने के लिए हरमनप्रीत और स्मृति ने BCCI को लिखी चिट्ठी

2018-12-04_HarmanpreetKaur.jpg

भारतीय महिला क्रिकेट टीम में कोच रमेश पोवार को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है. पोवार के करार के विवादास्पद अंत के बाद सोमवार को टी20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर और उप कप्तान स्मृति मंधाना खुलकर कोच के पक्ष में उतर आईं. उन्होंने कोच की वापसी की मांग की. पोवार का अंतरिम कोच का कार्यकाल 30 नवंबर को खत्म हो गया था. माना जा रहा है कि सीनियर खिलाड़ी मिताली राज के साथ मतभेद के कारण उनका करार नहीं बढ़ाया गया. 

प्रशासकों की समिति (सीओए) के अध्यक्ष विनोद राय ने बताया कि हरमनप्रीत और स्मृति ने पोवार को 2021 तक कोच बनाने का समर्थन किया है. पोवार का अंतरिम कार्यकाल 30 नवंबर को समाप्त हुआ. बीसीसीआई पहले ही इस पद के लिए नए आवेदन मांग चुका है. पोवार दोबारा आवेदन करने के लिए स्वतंत्र हैं. विनोद राय ने कहा, ‘हां, उन्होंने पत्र लिखा है कि वे चाहते हैं कि रमेश पोवार अपने पद पर बने रहें.’

हरमनप्रीत और स्मृति ने पोवार का कार्यकाल बढ़ाने का समर्थन किया है, लेकिन यह भी पता चला है कि एकता बिष्ट और मानसी जोशी के अलावा वनडे टीम की कप्तान मिताली उन्हें दोबारा यह पद सौंपने के खिलाफ हैं. उधर, हरमनप्रीत ने पोवार के समर्थन में पत्र लिखा है. उन्होंने इसमें कहा, ‘मैं टी20 कप्तान और वनडे उप कप्तान के रूप में आपसे अपील करती हूं कि पोवार को हमारी टीम के कोच के रूप में आगे भी बरकार रहने की स्वीकृति दी जाए. अगले टी20 विश्व कप में बमुश्किल 15 महीने और न्यूजीलैंड दौरे पर जाने के लिए एक महीना है. एक टीम के रूप में वे जिस तरह हमारे अंदर बदलाव लाए हैं, उसे देखते हुए मुझे उन्हें बदलने का कोई कारण नजर नहीं आता.’ 

बीसीसीआई के पदाधिकारियों को भी भेजे गए पत्र में हरमनप्रीत और स्मृति ने कहा है कि अगस्त में पोवार की कोच के रूप में नियुक्ति के बाद से टीम में काफी सुधार हुआ है. हरमनप्रीत ने कहा, ‘सेमीफाइनल में हमारी हार दिल तोड़ने वाली थी और यह देखकर हमारी परेशानी और बढ़ गई कि आखिर कैसे हमारी छवि को नुकसान पहुंचाया गया.’



loading...