ताज़ा खबर

रेप आरोपी गायत्री प्रजापति के मंत्री बने रहने पर राज्यपाल ने सीएम अखिलेश से मांगा जवाब

NSA अजित डोभाल ने अयोध्या फैसले के बाद हुई योगी सरकार की कार्रवाई को लेकर कही ये बड़ी बात

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में हैंडपंप से पानी की जगह निकल रहा है खून और मांस के टुकड़े, लोगों में दहशत

उन्नाव दुष्कर्म मामले में आरोपी कुलदीप सेंगर के खिलाफ 16 दिसंबर को फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

नागरिकता संशोधन विधेयक पर बोले आजम खान- देशभक्ति करने की सजा ही भुगत रहे हैं मुसलमान

उन्नाव केस: पीड़िता की मौत पर मुख्यमंत्री योगी ने जताया दुःख, बोले- मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाएंगे

उन्नाव रेप पीड़िता के पिता ने कहा- हैदराबाद के दरिंदो को जैसी सजा मिली वैसी ही उनकी बेटी के दोषियों को भी मिले

2017-03-05_Ram-Naik-Akhilesh-Yadav.jpg

यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने सपा नेता व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति के खिलाफ अदालत से गैरजमानती वारंट जारी हो जाने को खासा गंभीरता से लिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से पूछा है कि गायत्री प्रजापति के मंत्रिमंडल में बने रहने का क्या औचित्य है और मुख्यमंत्री इस पर अपनी राय से उन्हें जल्द से जल्द अवगत करायें।

गौरतलब है कि गायत्री सहित मामले में आरोपी छह अन्य लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारंट कोर्ट से जारी किया जा चुका है।

गायत्री प्रसाद प्रजापति यूपी सरकार में परिवहन मंत्री हैं और गैंगरेप का केस दर्ज होने के बाद से ही फरार हैं। उनकी तलाश में अलग-अलग शहरों में छापेमारी हो चुकी है।

गायत्री के देश छोड़कर भागने की आशंका को देखते हुए उनका पासपोर्ट भी रद्द कर दिया गया है। अभी तक गायत्री कानून की ‌गिरफ्त में नहीं आए हैं।



loading...