कांग्रेस में नहीं थम रहा इस्तीफों का सिलसिला, पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने दिया इस्तीफा, पार्टी ने किया नामंजूर

2019-07-09_SomenMitra.jpg

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की करारी हार के बाद पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. हालांकि पार्टी का कहना है कि उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया है. पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस कमेटी में कम्यूनिकेशन एंड आउटरीच डिपार्टमेंट ने बाकायदा चिट्ठी जारी कर मित्रा के इस्तीफे को अस्वीकार किए जाने का ऐलान किया है. इस चिट्ठी में दावा किया गया है कि पार्टी नेताओं ने सोमेन मित्रा को मना लिया है. पश्चिम बंगाल से कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा सांसद प्रदीप भट्टाचार्य ने मी़डिया को बताया, 'सोमेन मित्रा का इस्तीफा मंजूर नहीं किया गया है. क्योंकि सर्वोच्च पद पर कोई व्यक्ति नहीं है इसलिए इस्तीफा स्वीकार करने का सवाल ही नहीं उठता.'

सोमेन मित्रा के इस्तीफे को लेकर प्रदीप भट्टाचार्य के घर पर एक बैठक आयोजित की गई और वहां सोमेन मित्रा को स्पष्ट कर दिया गया कि उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया है और इसलिए वे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में जारी रहेंगे.

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने कांग्रेस हाई-कमान को पत्र लिखकर लोकसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने इस्तीफे की पेशकश की थी. मित्रा ने कहा था, 'चूंकि उन्हें राहुल गांधी द्वारा WBPCC अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था, इसलिए वह इस्तीफा देना चाहते हैं क्योंकि गांधी अब अध्यक्ष के रूप में जारी नहीं रखना चाहते हैं.'

पश्चिम बंगाल कांग्रेस के प्रभारी गौरव गोगोई ने कहा कि सोमेन मित्रा का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया जा रहा है और उन्हें डब्ल्यूबीपीसीसी प्रमुख के रूप में जारी रखना है.
 



loading...