पश्चिम बंगाल: पंचायत चुनावों में हई हिंसा, 9 लोगों की मौत

2018-05-14_West-Bengal-panchayat-polls-2018.jpg

पश्चिम बंगाल के बहु-प्रतीक्षित पंचायत चुनावों में सुबह 7 बजे से वोटिंग के शुरू होने के बाद से हिंसा की खबरें बदस्तूर जारी है. राज्य के कई इलाकों में हिंसा हुई. जान-माल का काफी नुक्सान हुआ. हिंसा की घटनाओं में अब तक 9 लोगों की मौत हुई है. ज्ञात हो, 20 जिलों में पंचायत चुनाव हो रहे हैं.प्राप्त जानकारी के मुताबिक, दोपहर 3 बजे तक 56 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है.  कई जगह हिंसा हुई तो सोनाडांगी में एक तालाब से बैलेट बॉक्स बरामद किया गया. पश्चिम बंगाल में टीएमसी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई है. जिसके बाद चुनाव आयोग के दफ्तर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया. इसके साथ ही, आसनसोल और रानीगंज में तो वाहनों को भी तोड़ा गया. जहाँ दुर्गापुर में भारतीय जनता पार्टी और सीपीएम कार्यकर्ताओं के बीच करारी झड़प हुई. वहीँ, दक्षिण परगना जिले के कुलताली में टीएमसी कार्यकर्ता आरिफ गाजी की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. 

टीएमसी नेता पार्थ चैटर्जी ने कहा, छोटी-मोटी घटनाएं हो रही है, मुझे अभी तक किसी बड़ी घटना की जानकारी नहीं है. जिन जगहों पर झड़प हो रही है वहां प्रशासन सक्रिय है. मतदान शांतिपूर्ण हो रहे हैं. मैं पत्रकारों पर हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूं. 

इन हिंसक घटनाओं पर केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियों ने कहा, सुबह से जिस तरह की घटनाएं हो रही है वह कोई नई बात नहीं है. बंगाल में एक बेशर्म सरकार है. आप उनसे किसी भी तरह के संवैधानिक व्यवहार की अपेक्षा नहीं कर सकते हैं. मैं पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन की मांग करता हूं.

पंचायत चुनाव के दौरान हो रही हिंसक घटनाओं पर भाजपा के सुधांशु त्रिवेदी का कहना है, बेहद निंदाजनक और अपमानजनक चीजें हो रही हैं. यह दिखाता है कि कैसे टीएमसी ने राजनीतिक हिंसा की संस्कृति में राज्य को घेरा हुआ है. यह गणतंत्र के लिए खतरे की घंटी है.



loading...