श्रीनगर में झेलम नदी खतरे के निशान से ऊपर, 10 राज्यों में भारी बारिश का अनुमान

महबूबा मुफ्ती ने पार्टी टूटने के डर से बीजेपी को दी धमकी, PDP को तोड़ने की कोशिश की तो कश्मीर में और सलाउद्दीन पैदा होंगे

उत्तराखंड: पिथौरागढ़ में 4 दिन से भारी बारिश, 45 गांवो का संपर्क टूटा, 16 राज्यों में अलर्ट

कश्मीर में भारी बारिश के चलते रोकी गई अमरनाथ यात्रा, बालटाल मार्ग पर भूस्खलन, 5 श्रद्धालुओं की मौत, 3 घायल

भारी बारिश के चलते दूसरी बार रोकी गई अमरनाथ यात्रा, CRPF ने बनाया हेल्पर डेस्का, 19 राज्यों में भारी बारिश का अनुमान

भारी बारिश के चलते रोकी गई अमरनाथ यात्रा, बालटाल-पहलगाम में रुका पहला जत्था, 26 राज्यों में भारी बारिश का अनुमान

कड़ी सुरक्षा के बीच अमरनाथ यात्रियों का पहला जत्था जम्मू से रवाना, 40 हजार जवान करेंगे सुरक्षा

2018-06-30_jhelum.jpeg

मौसम विभाग ने शनिवार को 10 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. उधर जम्मू-कश्मीर के ज्यादातर हिस्सों में 27 जून से रुक-रुककर हो रही बारिश की वजह से झेलम और तवी नदी खतरे के निशान को पार कर गई हैं. इनकी सहायक नदियां भी उफान पर हैं। खराब मौसम की वजह से प्रशासन ने कश्मीर डिवीजन के स्कूलों में शनिवार को छुट्टी कर दी.

न्यूज एजेंसी के मुताबिक खराब मौसम की वजह से अमरनाथ यात्रियों को जम्मू के भगवती नगर बेस कैम्प में रोका गया है। अधिकारियों ने बताया कि भगवती नगर और दूसरे कैम्पों में करीब 5000 यात्री हैं. उन्होंने बताया कि जम्मू से आगे मौसम खुला है, ऐसे में शनिवार सुबह उधमपुर में फंसे 2032 तीर्थयात्रियों को पहलगाम के लिए रवाना कर दिया गया. बालटाल वाले रास्ते से भी तीर्थयात्रियों को आगे जाने की इजाजत दे दी गई.

मौसम विभाग के मुताबिक असम, मेघालय, उत्तराखंड, तटवर्ती कर्नाटक, अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, उत्तरप्रदेश, पंजाब और केरल में शनिवार को भारी बारिश हो सकती है. 1 से 2 जुलाई के बाद मैदानी इलाकों और मध्य भारत में मानसून की सक्रियता कम हो सकती है. 6 जुलाई तक पहाड़ी राज्यों और उनसे लगे मैदानी इलाकों में मानसून सक्रिय हो सकता है. उत्तर-पश्चिम भारत में दो-तीन दिन तक अच्छी बारिश की संभावना है.



loading...