विश्व हिंदू परिषद को नहीं मिली विवादित परिसर में दीप जलाने की अनुमति, कमिश्नर बोले- SC जाएं

शिवपाल यादव के तेवर पड़े नरम, अखिलेश यादव की तरफ बढ़ाया दोस्ती का हाथ, बोले- एक हो जाएं तो बना लेंगे सरकार

कैंट सीओ धमकी मामले में सीएम योगी ने मंत्री स्वाति सिंह को लगाई फटकर, DGP ने मांगी रिपोर्ट

नोएडा में नौकरी की तलाश में आई युवती से 6 लोगों ने किया गैंगरेप, 4 आरोपी गिरफ्तार

यूपी: मृतक के परिजनों से बदसलूकी करने वाले अमेठी के DM पर गिरी गाज, अरुण कुमार नए जिलाधिकारी

यूपी: होमगार्डों की फर्जी हाजिरी और वेतन निकासी में करोड़ों का घोटाला, आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तैयारी

अयोध्या फैसले के दिन यूपी में हत्या, लूट, अपहरण, डकैती की नहीं हुई कोई भी वारदात, अधिकारियों को भी नहीं हो रहा यकीन

2019-10-14_VHP.jpg

विश्व हिंदू परिषद को अयोध्या के विवादित स्थल पर दीपोत्सव की अनुमति नहीं मिली. राम मंदिर के रिसीवर कमिश्नर मनोज मिश्र ने मामले पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश स्पष्ट किया और कहा कि यहां पर परंपरागत कार्यक्रमों के अलावा किसी अन्य उत्सव की अनुमति नहीं दी जा सकती.

हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि अगर विहिप चाहे तो सुप्रीम कोर्ट जा सकती है. दरअसल, विहिप के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को मंदिर के रिसीवर कमिश्नर से विवादित परिसर में दीपोत्सव मनाने की अनुमति मांगने के लिए मुलाकात की थी.

प्रतिनिधिमंडल में मणिराम दास छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास, संत समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैया दास, विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता शरद शर्मा व पार्षद रमेश दास सहित कई अन्य संत शामिल रहे.



loading...