चक्रवाती तूफान ‘वायु’ गुजरात के तट से नहीं टकराएगा, सुरक्षित स्थान पर पहुंचाए गए 3 लाख लोग

महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल समेत कई राज्यों में बाढ़ से हर हाल, अब तक 168 लोगों की मौत, राहत-बचाव कार्य जारी

गुजरात के नाडियाड में भारी बारिश से गिरी 3 मंजिला इमारत, 4 की मौत, कई लोगों के दबे होने की आशंका

गुजरात: वडोदरा में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात, सड़कों पर घूम रहे मगरमच्छ

गुजरात में भारी बारिश से कई ट्रेनें रदद्, वडोदरा एयरपोर्ट बंद, राहत-बचाव में जुटी NDRF

गुजरात के अहमदाबाद में बहुमंजिला इमारत में लगी आग, दमकल की 10 गाड़ियां मौजूद, 2 लोगों की हालत गंभीर

गुजरात: बीजेपी में शामिल हुए कांग्रेस के पूर्व विधायक अल्पेश ठाकोर और धवलसिंह जाला, जीतू वाघानी ने दिलाई सदस्यता

2019-06-13_CycloneVayu.jpg

चक्रवाती ‘वायु’ के रास्ता बदल लेने और इसके गुजरात तट से टकराने की {संभावना|उम्मीद नहीं होने के बावजूद इस राज्य के तटीय क्षेत्रों के लिए तूफान की गंभीरता एक खतरा बनी हुई है. अधिकारी ने कहा कि तेज हवाओं, धूल भरी आंधी और बारिश का खतरा जस का तस बना हुआ है. तूफान का मध्य भाग गुजरात तट से थोड़ा दूर हो गया है, लेकिन इसका व्यास 900 किलोमीटर से अधिक का है.

मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवात ‘वायु’ ने अपना रास्ता बदल लिया है और अब इसके गुजरात तट से टकराने की संभावना नहीं है, लेकिन इसके प्रभाव के चलते राज्य के कई तटीय जिलों में भारी बारिश होगी. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन ने कहा, 'वायु' तट से टकराने की संभावना नहीं है. यह केवल तट के किनारे से गुजरेगा। इसके मार्ग में हल्का बदलाव आया है। लेकिन, इसका प्रभाव वहां होगा, तेज हवाएं चलेंगी और भारी बारिश होगी.

गुजरात सरकार के राजस्व विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार ने कहा, 'सरकार चक्रवाती तूफान वायु के लिए सरकार की सतर्कता उसी तीव्रता के साथ जारी है. लोगों को रहने के लिए आश्रय गृहों में भेजा गया है. लोग सुरक्षित स्थानों पर ही रहेंगे उनकी तैयारी उसी स्तर पर जारी रहेगी.

चक्रवाती तूफान ‘वायु’ ने अपनी दिशा बदल ली है और अब वह गुजरात के तय से नहीं टकराएगा. गुरुवार को यह बात भारतीय मौसम विभाग ने कही. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय में सचिव एम राजीवन ने पीटीआई को बताया, 'वायु गुजरात के तटीय इलाकों से नहीं टकराएगा. यह केवल उसके छोर को छूकर निकल जाएगा. तेज हवाओं और भारी बारिश के कारण वहां उसका प्रभाव नजर आएगा.' आईएमडी के अतिरिक्त महानिदेशक देवेंद्र प्रधान ने कहा कि चक्रवात समुद्र में रहेगा और गुजरात तट के समानांतर चलेगा.

चक्रवाती तूफान ‘वायु’ के मद्देनजर पोरबंदर में एनडीआरएफ की छह टीमें अलर्ट पर हैं. 30 सदस्यों को चौहट्टी बीच पर स्टैंडबाय में रखा गया है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार वायु गुजरात तट से नहीं टकराएगा लेकिन यह तटीय जिलों को प्रभावित करेगा.



loading...