कोरियाई प्रायद्वीप में अमेरिका ने उड़ाए विध्वंसक विमान, उत्तर कोरिया ने बताया गुंडोंवाली करतूत

आतंकवादी बुरहान वानी को पाकिस्तान ने बताया फ्रीडम आइकॉन, जारी किया डाक टिकट

ऑस्ट्रेलिया में स्ट्रॉबेरी को खाने से डर रहे है लोग, 6 राज्यों में रुकी बिक्री, जानिए- क्या हैं कारण

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पीएम मोदी को लिखा खत, फिर से शुरू करना चाहते हैं शांति वार्ता

भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद नवाज शरीफ, बेटी और दामाद को बड़ी राहत, इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने सजा पर लगाई रोक

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में लोग अपने पसंदीदी फल स्ट्रॉबेरी को खाने से डर रहे हैं जानिए- क्या हैं कारण

जर्मनी में दौड़ने लगी पानी से चलने वाली ट्रेन, धुएं की जगह निकलता है भाप और पानी

2017-11-03_supersonic-bombers.jpg

क्षेत्रीय तनाव गहरा होने के बीच अमेरिका के बमवर्षकों ने जापान एवं दक्षिण कोरिया के युद्धक विमानों के साथ दक्षिण कोरियाई क्षेत्र में अभ्यास किया. अमेरिका की वायुसेना ने यह जानकारी दी.

यूएस पैसिफिक एयर फोर्स ने एक बयान में कहा कि दो सुपरसोनिक बी-1 बी लांसर बमवर्षक कल गुआम में एंडरसन वायुसेना अड्डे से उड़ान भरकर दक्षिण कोरिया के दक्षिण एवं जापान के पश्चिम तक पहुंचे, जहां जापान एयर सेल्फ-डिफेंस फोर्स के लड़ाकू विमान भी उनके साथ सम्मिलित हुए.

बयान के अनुसार, ‘‘लांसर्स इसके बाद कोरिया गणराज्य के लड़ाकू विमानों के साथ पीत सागर में कोरियाई क्षेत्र के ऊपर से गुजरे.’’ बयान में यह भी कहा गया कि यह अभ्यास प्रशांत क्षेत्र में ‘‘बमवर्षक की निरंतर उपस्थिति’’ अभियान का हिस्सा था. बयान के अनुसार अभ्यास ‘‘किसी मौजूदा घटना के जवाब में नहीं’’ किया गया.

उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने इस अभ्यास की निंदा की और इसे ‘‘आकस्मिक परमाणु हमला अभ्यास’’ बताया और कहा कि अमेरिकी साम्राज्यवाद जैसे गैंगस्टर परमाणु युद्ध भड़काना चाहते हैं. हाल के महीनों में उत्तर कोरिया ने अपना सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण करते हुए अमेरिकी भूभाग तक पहुंचने में सक्षम अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया है. इसने शक्तिशाली मध्यम रेंज की नई मिसाइलों को जापान के ऊपर से उड़ाया और गुआम, अमेरिकी प्रशांत क्षेत्र एवं सैन्य प्रतिष्ठान को उड़ाने की धमकी भी दी. 

अमेरिका इसके जवाब में लगातार गश्त या अभ्यासों के लिये क्षेत्र तक अपने सामरिक संसाधनों को भेजता रहता है. उत्तर कोरिया की आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने कहा था कि युद्ध भड़का रहे अमेरिकी साम्राज्य को इतना उतावलापन नहीं दिखाना चाहिए. 



loading...