ताज़ा खबर

तेल टैंकरों पर हमले से अमेरिका-ईरान में तनाव, 1 हजार सैनिकों की तैनाती को दी मंजूरी

पाक पीएम इमरान खान का बड़ा खुलासा, पाकिस्तान में सक्रिय थे 40 आतंकी समूह, अमेरिका से छिपाकर रखी सच्चाई

पाक पीएम इमरान खान का अमेरिका में विरोध, भाषण के दौरान बलूच कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा, विडियो हुआ वायरल

भ्रष्टाचार के आरोप में पाकिस्तान के पूर्व पीएम शाहिद खाकान अब्बासी गिरफ्तार

आतंकी हाफिज सईद पर ट्वीट कर फंसे डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिकी समिति ने कहा- ढूंढा नहीं गया, आजादी से घूम रहा था

भारत का मोस्ट वांटेड आतंकवादी हाफिज सईद पाकिस्तान में गिरफ्तार, भेजा गया जेल

ईरान के प्रेसिडेंट ने कहा- हम बातचीत के लिए तैयार, लेकिन अमेरिका धमकाना बंद करे और प्रतिबंध हटाए

2019-06-18_Ship.jpeg

अमेरिका ने दावा किया है कि उसके टैंकरों पर ईरान ने हमला किया है. हालांकि ईरान ने इस हमले से इनकार किया है. ईरान के खिलाफ अपने दावों को पुख्ता बनाने की कोशिशों में अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को तस्वीरें जारी की हैं जो कथित रूप से दर्शाती हैं फारस की खाड़ी में पिछले हफ्ते दो तेल टैंकरों पर हुए हमलों के पीछे तेहरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड के सदस्यों का हाथ था. 

वहीं अमेरिका ने ईरान के साथ बढ़ते तनाव को ध्यान में रखते हुए पश्चिम एशिया में 1000 अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती की अनुमति दे दी है. कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट्रिक शनहान ने एक बयान में कहा कि सैनिकों को पश्चिम एशिया में हवाई, नौसैनिक, और जमीनी खतरों से निपटने के लिए भेजा जा रहा है.

शनहान ने कहा, हाल ही में ईरानी हमलों ने ईरानी बलों और उसके इशारों पर काम कर रहे समूहों के शत्रुतापूर्ण व्यवहार पर प्राप्त खुफिया जानकारी की पुष्टि की है, जो पूरे क्षेत्र में अमेरिकी कर्मियों और उनके हितों के लिए खतरा है.

उन्होंने आगे कहा, ‘तैनाती का लक्ष्य पूरे क्षेत्र में काम करने वाले हमारे सैन्य कर्मियों की सुरक्षा एवं कल्याण सुनिश्चित करना और हमारे राष्ट्रीय हितों की रक्षा करना है.’ अमेरिका के ईरान के साथ बहुराष्ट्रीय परमाणु समझौते से बाहर होने के बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा हुआ है.



loading...