राजस्थान : BJP में मचा घमासान, प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर दिल्ली पहुंचे राजे समर्थक

राहुल गांधी ने रोड शो में दिखाया दमखम, थोड़ी देर बाद कार्यकर्ताओं को करेंगे संबोधित

BJP विधायक ज्ञानदेव आहूजा का एक और विवादित बयान- नेहरू नहीं थे पंडित, गाय और सुअर खाते थे

अलवर में अतिक्रमण हटवाने के लिए तहसीलदार को लट्ठ दिखाकर जबरन लाई महिलाएं

सीएम वसुन्धरा राजे ने 55 पॉक्सो कोर्ट को दी स्वीकृति, अब यौन अपराधियों को जल्द मिल सकेगी सजा

किकी चैलेंज से लोगों को दूर रखने के लिए राजस्थान पुलिस ने जिस व्यक्ति को मृत बताया वह जिंदा निकला

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ने अलवर लिंचिंग को लेकर सरकार पर बोला हमला, कहा- यह पीएम का ‘क्रूर न्यू इंडिया’, बीजेपी बोली आप नफरत के सौदागर

2018-04-24_amit653.jpeg

राजस्थान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर सियासत चरम पर है. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे किसी ‘अपने’ को इस पद पर देखना चाहती हैं. राजपूत समाज से केंद्रीय राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को अध्यक्ष बनाए जाने की सूचनाएं आने के बाद राजे ने लॉबिंग भी तेज कर दी है. इसके चलते कई जाट नेता दिल्ली में डेरा लगाए हुए हैं.

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल के बेटे ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को सोशल मीडिया के जरिये अपने तर्कों के आधार पर कहा है कि शेखावत जातिगत समीकरणों में फिट नहीं बैठते. वहीं, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने बयान दिया है कि भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर कोई बलि का बकरा नहीं बनना चाहता, इस कारण नाम की घोषणा नहीं हो पा रही है.

भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए खींचतान जारी है. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अध्यक्ष पद पर उनके अनुसार किसी व्यक्ति को बैठाना चाहती हैं, लेकिन सूत्रों का कहना है कि आलाकमान किसी राजपूत नेता को ये पद देना चाहती है, जो राजे के प्रभाव में न हो. राजे के लिए राजस्थान के जाट नेता दिल्ली में लॉबिंग करने के लिए डेरा जमाए हैं.

उनका कहना है कि राजस्थान में जाट समाज सबसे बड़ा वोट बैंक है, यदि राजपूत नेता को अध्यक्ष पद दिया गया, तो समाज नाराज हो जाएगा. गौरतलब है कि 16 अप्रैल को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रहे अशोक परनामी से आलाकमान ने इस्तीफा ले लिया था.



loading...