राजस्थान : BJP में मचा घमासान, प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर दिल्ली पहुंचे राजे समर्थक

राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका, जसवंत सिंह के पुत्र मानवेंद्र सिंह ने थामा कांग्रेस का हाथ

राजस्थान के स्कूलों में नवरात्रि के दौरान टीचर्स और छात्र धोते हैं छात्राओं के पैर

राजस्थान- विधानसभा चुनाव में अपने बेटों को विधायक बनाने में लगे कांग्रेस-बीजेपी के दिग्गज नेता

राजस्थान में फिर उठी जाट आरक्षण की मांग, कांग्रेस विधायक ने दी बड़े आन्दोलन की चेतावनी

करणी सेना के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कलवी ने कहा, जो राजपूतों का साथ देगा वहीं राजस्थान पर राज करेगा

दुष्कर्म के आरोपी फलाहारी बाबा दोषी करार, कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा और 1 लाख का जुर्माना

2018-04-24_amit653.jpeg

राजस्थान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर सियासत चरम पर है. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे किसी ‘अपने’ को इस पद पर देखना चाहती हैं. राजपूत समाज से केंद्रीय राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को अध्यक्ष बनाए जाने की सूचनाएं आने के बाद राजे ने लॉबिंग भी तेज कर दी है. इसके चलते कई जाट नेता दिल्ली में डेरा लगाए हुए हैं.

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल के बेटे ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को सोशल मीडिया के जरिये अपने तर्कों के आधार पर कहा है कि शेखावत जातिगत समीकरणों में फिट नहीं बैठते. वहीं, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने बयान दिया है कि भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर कोई बलि का बकरा नहीं बनना चाहता, इस कारण नाम की घोषणा नहीं हो पा रही है.

भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए खींचतान जारी है. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अध्यक्ष पद पर उनके अनुसार किसी व्यक्ति को बैठाना चाहती हैं, लेकिन सूत्रों का कहना है कि आलाकमान किसी राजपूत नेता को ये पद देना चाहती है, जो राजे के प्रभाव में न हो. राजे के लिए राजस्थान के जाट नेता दिल्ली में लॉबिंग करने के लिए डेरा जमाए हैं.

उनका कहना है कि राजस्थान में जाट समाज सबसे बड़ा वोट बैंक है, यदि राजपूत नेता को अध्यक्ष पद दिया गया, तो समाज नाराज हो जाएगा. गौरतलब है कि 16 अप्रैल को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रहे अशोक परनामी से आलाकमान ने इस्तीफा ले लिया था.



loading...