असम में रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज, मंत्री ने भी दर्ज कराई शिकायत

भागलपुर के बाद असम के सिल्चर में पीएम मोदी ने कहा- ये चायवाला आपके जीवन को बेहतर बनाने के लिए कोई कमी नहीं छोड़ेगा

असम में राहुल गांधी का वादा, हमारी सरकार बनने पर युवाओं को रोजगार शुरू करने के लिए किसी परमिशन की जरूरत नहीं होगी

असम में पीएम मोदी का कांग्रेस पर वार, कहा- चाय वालों का दर्द सिर्फ एक चायवाला ही समझ सकता है

असम सरकार में बीजेपी के मंत्री ने कहा- अगर मोदी दोबारा पीएम नहीं बने तो संसद और विधानसभा पर हमला कर सकता है पाकिस्तान

असम 2008 बम विस्फोट मामले में एनडीएफबी प्रमुख रंजन दैमारी सहित 10 को उम्रकैद की सजा, 88 लोगों की गई थी जान

असम 2008 बम विस्फोट मामले में एनडीएफबी प्रमुख रंजन दैमारी सहित 15 दोषी करार, बुधवार को सजा का ऐलान

2018-08-11_rajen-gohain-rape.jpg

असम पुलिस ने रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन के खिलाफ दुष्कर्म और धमकी देने का मुकदमा दर्ज किया है। केंद्रीय मंत्री पर ये आरोप एक महिला (24) ने लगाए। इसके बाद गोहेन ने पीड़ित महिला और उसके परिवार पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया। नगांव जिले की पुलिस उपाधीक्षक (मुख्यालय) सबिता दास ने बताया कि मंत्री के खिलाफ मुकदमा 2 अगस्त को दर्ज किया गया। हालांकि, गोहेन के ओएसडी संजीव गोस्वामी ने दावा किया कि महिला ने मुकदमा वापस ले लिया है। नगांव थाना प्रभारी अनंत दास ने बताया कि महिला ने आरोप वापस लेने की बात कही है, लेकिन केस अब भी कायम है। 

नगांव थाने के एक अफसर ने बताया कि यह घटना करीब सात-आठ महीने पुरानी है, जिसकी शिकायत अब की गई। गोहेन और महिला काफी समय से एक-दूसरे को जानते थे। बताया जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री उसके घर भी जाते थे। फिलहाल महिला का बयान दर्ज हो चुका है,  लेकिन वह मेडिकल कराने से इनकार कर रही है।

जबकि गोहेन के विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी) संजीव गोस्वामी ने बताया कि मंत्री ने भी महिला और उसके परिवार के खिलाफ ब्लैकमेल करने की शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने दावा किया कि मंत्री के खिलाफ मामला वापस ले लिया गया है। 

हालांकि सबिता ने मामले के बारे में कोई जानकारी देने से इनकार किया। नगांव थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मामला (संख्या 2592/18) पिछले सप्ताह दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा, ‘आईपीसी की धाराओं 417 (धोखाधड़ी), 376 (बलात्कार) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। हम जांच कर रहे हैं और महिला का बयान दर्ज किया जा चुका है।’ 



loading...