ताज़ा खबर

SBI के बाद यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने भी MCLR में की कटौती

2019-12-11_UnionBankOfIndia.jpg

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने मंगलवार को एक साल की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (MCLR) को 0.05 प्रतिशत कम करके 8.20 प्रतिशत कर दिया. यूनियन बैंक ने अपनी विभिन्न अवधि के कर्ज पर कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) में 0.05 से 0.10 प्रतिशत तक कटौती की है. बैंक ने कहा कि एक साल की अवधि के कर्ज पर एमसीएलआर को 8.25 प्रतिशत से घटाकर 8.20 प्रतिशत किया गया है.

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने एक दिन के कर्ज पर एमसीएलआर को 0.10 प्रतिशत कम करके 7.75 प्रतिशत किया गया है. एक महीने से छह महीने के अवधि के कर्ज के लिए एमसीएलआर को 7.80 से 8.05 प्रतिशत के बीच रखा है. बैंक ने कहा की नई दरें आज यानि 11 दिसंबर से प्रभावी होंगी.

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ इंडिया ने विभिन्न अवधि के कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (MCLR) में 0.20 प्रतिशत तक कटौती की है. देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने सोमवार को एक साल के एमसीएलआर आधारित ब्याज दर पर 0.10 प्रतिशत की कटौती कर उसे 7.9 प्रतिशत किये जाने की घोषणा की है. बीओआई  ने एक दिन के लिये एमसीएलआर आधारित ब्याज दर में 0.20 की कटौती की जबकि अन्य अवधि के एमसीएलआर ब्याज में 0.10 प्रतिशत की कमी की है. इस कटौती के एक दिन की अल्प अवधि के कर्ज पर एमसीएलआर दर 7.75 प्रतिशत होगी. एक साल की एमसीएलआर आधारित कर्ज पर ब्याज दर 8.20 प्रतिशत होगी जो पहले 8.30 प्रतिशत थी.

SBI ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट  में 0.10 फीसदी की कटौती कर दी है. बता दें कि SBI ने चालू वित्त वर्ष में लगातार आठवीं बार MCLR में कटौती करने का ऐलान किया है. MCLR घटने के बाद एसबीआई के ग्राहकों का होम लोन, ऑटो लोन, पर्सनल लोन सस्ता हो गया है. SBI के ग्राहकों को 10 दिसंबर से दरें घटने का फायदा मिलने लगेगा.



loading...