उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र में बीजेपी से मांगी 152 सीटें, सीएम पद की भी मांग की

2018-06-09_uddhav.jpg

महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है. दोनों पार्टियों के बीच आई दूरी के बीच कुछ दिन पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने उद्धव ठाकरे से मुलाकात की. हालांकि इसके बाद भी शिवसेना की ओर से कहा गया कि वह अकेले ही चुनाव में जाएगी. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक अब सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि मातोश्री में जब अमित शाह और उद्धव ठाकरे की मुलाकात हुई तो भाजपा अध्यक्ष की ओर से शिवसेना प्रमुख को ये कहा गया कि वह जल्द ही फिर से गठबंधन के ऊपर बातचीत के लिए मिलेंगे. उसी समय शिवसेना की ओर से सुलह के लिए एक फॉर्मूला दिया गया.

बताया जा रहा है कि ये दोनों नेता जब मिले थे, तो शिवसेना अध्यक्ष ने अमित शाह के सामने अगले विधानसभा चुनावों के लिए 152 सीटें मांग लीं. इसके साथ ही अपने लिए सीएम पोस्ट का वादा भी मांगा है. 288 सीटों वाली महाराष्ट्र विधानसभा के लिए शिवसेना अब 152 सीटें चाहती है ताकि मुख्यमंत्री पद पर वह अपने व्यक्ति को बिठा सके. इसका अर्थ होगा कि भाजपा और दूसरे सहयोगियों के लिए सिर्फ 136 सीटें बचेंगी.

हालांकि अभी ये तय नहीं है कि क्या शिवसेना और भाजपा एक साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़े और बाद में विधानसभा चुनाव में साथ साथ जाएंगीं. हालांकि शिवसेना की ओर से कहा जा रहा है कि अगर उसने ऐसा किया तो ये बड़ी भूल होगी. अगर भाजपा की लोकसभा चुनावों के बाद सत्ता में वापसी हो जाती है तो वह फिर से महाराष्ट्र में अकेले चुनाव लड़कर सत्ता हथिया सकती है.

2014 में महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों पर भाजपा और शिवसेना गठबंधन साथ में लड़ा था. इसमें 26 सीटों पर भाजपा और 22 सीटों पर शिवसेना लड़ी थी. इसके बाद हुए विधानसभा चुनावों में सीटों के बंटवारे को लेकर दोनों पार्टियां आमने सामने आ गई थीं और अलग अलग चुनाव लड़ा था. हालांकि बाद में शिवसेना भाजपा सरकार में शामिल हो गई थी. भाजपा ने 260 सीटों पर चुनाव लड़ा था. इसमें उसे 122 सीटें मिलीं थीं. वहीं शिवसेना ने 282 सीटों पर चुनाव लड़ा था, लेकिन उसे 62 सीटें ही मिली थीं.



loading...