अब Twitter पर राजनीतिक दल नहीं दे सकेंगे विज्ञापन, 22 नवंबर से लागू होगी पॉलिसी

2019-10-31_Twitter.jpg

माइक्रोब्लोगिंग साइट ट्विटर ने अपने प्लेटफॉर्म पर राजनीतिक विज्ञापनों पर पूरी तरह से रोक लगा दी है. अब दुनियाभर के यूजर्स इस प्लेटफॉर्म पर पॉलिटिकल एड नहीं देख पाएंगे. वहीं, ट्विटर की नई पॉलिसी 22 नवंबर से लागू हो जाएगी. कंपनी के मुख्य अधिकारी जैक डॉर्सी ने अपने आधिकारिक अकाउंट पर इस जानकारी को पोस्ट किया है. इसके अलावा डॉर्सी ने विज्ञापन पर बैन लगाने को लेकर कई कारण भी बताएं हैं.

जैक ने अपने ट्विट में कहा है कि हमने ग्लोबल स्तर पर राजनीतिक विज्ञापनों पर रोक लगाई है. उन्होंने आगे लिखा है कि हमारा मानना है कि इन विज्ञापनों के जरिए लोगों तक संदेश पहुंचाने चाहिए बल्कि इन्हें खरीदा भी नहीं जाना चाहिए.

जैक ने कहा है कि एक राजनीतिक विज्ञापन या मैसेज लोगों तक जब पहुंचता है, जब उस अकाउंट को फॉलो किया जाता है. इसके साथ ही रिट्विट करने से भी रीच बढ़ती है. हमारा मानना है कि इस फैसले से पैसों का समझौता नहीं किया जा सकता है.

आज के समय में इंटरनेट विज्ञापन देने वालों के लिए एक ताकतवर प्लेटफॉर्म बन गया है, लेकिन यह राजनीति के लिए घातक साबित हो सकता है. जैक का मानना है कि राजनीतिक विज्ञापनों से वोट को प्रभावित किया जाता है, जिससे करोड़ों लोगों की जिंदगियां प्रभावित होती हैं.



loading...