ताज़ा खबर

मेरे पास ज्यादा पावरफुल न्यूक्लियर बटन, ये काम भी करता है: नॉर्थ कोरिया की धमकी पर ट्रम्प बोले

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में लोग अपने पसंदीदी फल स्ट्रॉबेरी को खाने से डर रहे हैं जानिए- क्या हैं कारण

जर्मनी में दौड़ने लगी पानी से चलने वाली ट्रेन, धुएं की जगह निकलता है भाप और पानी

ऑस्ट्रेलिया में राष्ट्रगान के समय 9 साल की बच्ची खड़ी नहीं हुई तो नेताओं ने स्कूल से निकालने की बात कही

चीन में बड़ा हादसा, भीड़ पर एसयूवी चढ़ाकर लोगों को कुचला, 9 की मौत, 46 से ज्यादा घायल

नवाज शरीफ और बेटी मरियन को कुलसुम के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए मिली पैरोल, लाहौर पहुंचे

पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ की पत्नी बेगम कुलसुम का लंबी बीमारी के बाद निधन, लंदन के अस्पताल में ली आखिरी सांस

2018-01-03_trump-missile-kim-jong-un.jpg

नए साल में भी अमेरिका और उत्तर कोरिया की तल्खी बदस्तूर जारी है. एक ओर जहां नए साल के मौके पर उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने अमेरिका को धमकी देते हुए कहा कि उत्तर कोरिया की परमाणु शक्ति हकीकत है और उसके हाथों में परमाणु बम का बटन है. वहीं बुधवार की सुबह डोनाल्ड ट्रंप ने नोर्थ कोरिया को जवाब देते हुए कहा है कि मेरे डेस्क पर हमेशा न्यूक्लियर बटन रहता है जो ज्यादा बड़ा है और ज्यादा पावरफुल भी है.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि उनका परमाणु बटन उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के मुकाबले ना केवल ‘ज्यादा बड़ा और शक्तिशाली’ है बल्कि वह काम भी करता है.

ट्रंप ने एक ट्वीट में कहा, ‘उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने यह कहा है कि परमाणु हथियार का बटन हर समय उनके डेस्क पर रहता है. क्या कमजोर और भुखमरी से जूझ रही सरकार से कोई उन्हें यह सूचित करेगा कि मेरे पास भी परमाणु हथियार का बटन है लेकिन यह उनके बटन से कहीं अधिक बड़ा और शक्तिशाली है व मेरा बटन चलता भी है.’ ट्रंप स्पष्ट रूप से किम जोंग उन के उस बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे जिसमें उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया अब परमाणु संपन्न देश है और परमाणु बटन उनके डेस्क पर रहता है.

किम जोंग उन ने टेलीविजन पर राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा था कि अमेरिका के मुख्य भूभाग का पूरा क्षेत्र अब उत्तर कोरिया के परमाणु हमले की जद में है. साथ ही उन्होंने कहा कि देश को व्यापक स्तर पर परमाणु आयुध तथा बैलिस्टिक मिसाइल बनाने और उनकी तैनाती बढ़ाने की जरूरत है. इस बीच वाइट हाउस ने उत्तर कोरिया को ‘वैश्विक खतरा’ बताया और अन्य देशों से उस पर दबाव बढ़ाने के लिए कहा.

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कल अपने नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘यहां पर हमारा ध्यान उत्तर कोरिया पर अधिकतम दबाव बढ़ाने पर है और अमेरिका चाहता है कि दूसरे देश इसमें शामिल हों.’ उन्होंने कहा, ‘यह एक वैश्विक खतरा है इसलिए हम सबसे दबाव बढ़ाने तथा और अधिक कदम उठाने की अपील कर रहे हैं. हम इसमें विभिन्न नेताओं तथा अन्य देशों की मदद करना जारी रखेंगे.’ सैंडर्स ने कहा कि अमेरिका के पास सभी विकल्प खुले हैं.

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया के साथ संबंध सुधारने का आह्वान किया व उन्होंने कहा कि दक्षिण कोरिया में होने वाले 2018 शीतकालीन ओलंपिक खेलों में उत्तर कोरिया भाग ले सकता है. इसके बाद ट्रंप ने कहा कि अमेरिका के नेतृत्व वाले अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध और ‘अन्य दबावों’ से उत्तर कोरिया पर बड़ा असर पड़ना शुरू हो गया है.

दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया की पेशकश का स्वागत किया और उसके साथ उच्च स्तरीय बातचीत करने का प्रस्ताव दिया. सैंडर्स ने कहा कि इस घटनाक्रम से अमेरिका के साथ दक्षिण कोरिया के संबंध नहीं बदलेंगे और वे हमेशा की तरह मजबूत रहेंगे.



loading...