पटाखे पर बैन के बाद त्रिपुरा गवर्नर का ट्वीट- जल्द ही हिंदुओं के चिता जलाने पर भी लग सकती है रोक

विधानसभा चुनाव: त्रिपुरा में गरजे पीएम मोदी, राज्‍य को माणिक की जगह 'हीरा' की जरूरत

BJP की त्रिपुरा इकाई के पूर्व अध्यक्ष रोनाजॉय कुमार देव ने दिया पार्टी से इस्तीफा

त्रिपुरा असेंबली इलेक्शन: चुनावी-सुनामी कार्यक्रम में बीजेपी प्रत्याशी रतन चक्रवर्ती ने कहा- प्रदेश में बनेगी बीजेपी की सरकार

त्रिपुरा इलेक्शन: रामनगर नंबर 7 से कांग्रेस प्रत्याशी पूजन बिस्वास ने जताई पार्टी की जीत की उम्मीद

Tripura election: शुरू हुआ चुनावों का दौर, INC उम्मीदवार ने प्रसंता सेन चौधरी ने बताया, बनेगी कांग्रेस की सरकार

त्रिपुरा के राज्यपाल का विवादित बयान- सुबह 4.30 बजे लाउडस्पीकर से होने वाली अजान पर चुप्पी क्यों?

2017-10-11_tripura-governer.jpg

दिवाली पर होने वाली आतिशबाजी पर उच्च्तम न्यायालय द्वारा रोक लगाए जाने के बाद त्रिपुरा के राज्यपाल तथागत रॉय ने मंगलवार को मोमबत्ती और पुरस्कार वापसी गिरोह पर निशाना साधा और कहा कि वायुप्रदूषण के डर से हिंदूओं के दाह संस्कार पर भी अर्जी आ सकती है.

बीजेपी के नेता रह चुके राज्यपाल ने दिवाली पर होने वाली आतिशबाजी पर रोक पर और दही हांडी के विषय पर हिंदी में ट्वीट किया. दही हांडी का मुद्दा भी अदालत में आया था.

उन्होंने ट्वीट किया, कभी दही हांडी, आज पटाखा, कल हो सकता है प्रदूषण का हवाला लेकर मोमबत्ती और पुरस्कार वापसी गैंग हिंदुओं की चिता जलाने पर भी याचिका डाल दे. शीर्ष अदालत ने सोमवार को कहा था कि दिल्ली और एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक होगी. इससे पहले जन्माष्टमी पर दही हांडी पर बनने वाले पिरामिड की ऊंचाई, उसमें भाग लेने वालों की उम्र का विषय अदालत में चर्चा में रहा.

बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में इस बार दिवाली के मौके पर पटाखों की बिक्री नहीं होगी. ये फ़ैसला सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनाया. इसके साथ ही इस प्रतिबंध को लागू करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की तरफ़ से जारी किए गए सारे स्थाई और अस्थाई लाइसेंस तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के आदेश दिए हैं.



loading...