मध्यप्रदेश में भारी बारिश से हाहाकार, गांधी सागर बांध ओवरफ्लो, हजारों लोगों को बचाया गया

मध्यप्रदेश के होशंगाबाद में बड़ा दर्दनाक सड़क हादसा, कार दुर्घटना में राष्ट्रीय स्तर के 4 हॉकी खिलाड़ियों की मौत

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम कमलनाथ पर साधा निशाना, बोले- अब तक किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ

मध्यप्रदेश के रायसेन में बड़ा दर्दनाक हादसा, तेज रफ़्तार बस नदी में गिरी, 6 की मौत, 37 लोग घायल

मध्य प्रदेश के ग्‍वालियर में वायुसेना का मिग-21 लड़ाकू विमान क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित

मध्यप्रदेश की जनता पर कमलनाथ सरकार की दोहरी मार, पेट्रोल-डीजल और शराब पर 5% बढ़ाया वैट

दिग्विजय सिंह के भाई ने कमलनाथ सरकार पर साधा निशाना, कहा- कर्जमाफी पर माफी मांगे राहुल गांधी

2019-09-16_MPRains.jpg

मध्यप्रदेश के मंदसौर में बारिश ने 75 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया. मानसून में अब तक 77.5 इंच बारिश हो चुकी है, जो प्रदेश में सबसे ज्यादा है. इससे पहले यहां 1944 में सबसे अधिक 62 इंच पानी बरसा था. शुक्रवार शाम से रविवार सुबह तक 9 इंच बारिश हुई, जिसके कारण 200 गांवों में कमर तक पानी घुस गया. जिला प्रशासन ने 117 गांवों को खाली करा लिया है. अब तक 20 हजार लोगों को 55 राहत कैंपों में पहुंचाया जा चुका है.

शनिवार देर रात करीब ढाई बजे गांधी सागर डैम का पानी मंदसौर और नीमच जिले के 63 गांवों में पानी घुस गया. जब लोग घरों में सोए हुए थे, तब बाढ़ से दहशत फैल गई. आनन-फानन में गांवों को नावों के जरिए खाली कराया गया, जो रविवार सुबह 9 बजे तक जारी रहा. गांधी सागर बांध के कारण मप्र-राजस्थान में बनी परिस्थितियों की रविवार को केंद्र सरकार ने समीक्षा की. गांधी सागर में बारिश का 16 लाख क्यूसेक पानी आ रहा है, जबकि 6.65 लाख क्यूसेक छोड़ा जा रहा है. इससे बांध ओवरफ्लो है.

गांधीसागर के एसडीओ ने बताया कि बांध का वॉटर लेवल शनिवार को 1318 फीट पर था. बांध से 6.65 लाख पानी छोड़ा जा रहा है. इससे वॉटर लेवल कम तो हुआ था, लेकिन शनिवार शाम हुई तेज बारिश से रविवार को जलस्तर 2 फीट तक बढ़ गया. इसे सामान्य स्थिति तक पहुंचने में करीब 18 घंटे का वक्त लग सकता है. इस बीच, अगर बारिश हुई तो परेशानी बढ़ जाएगी.

सितंबर आधा बीतने के बाद भी देश में मानसून की विदाई के कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं. मानसून पिछले साल 15 सितंबर तक मध्य भारत से वापस हो चुका था. लेकिन इस साल तेज बारिश का दौर जारी है. जबकि, उत्तर में भारी नमी और उमस के हालात बरकरार हैं. देश में अब तक सामान्य से 4% और मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में 23% ज्यादा बारिश हो चुकी है. मौसम विभाग के अनुसार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, प. बंगाल, कर्नाटक और केरल समेत 12 राज्यों में 2 दिन (सोमवार और मंगलवार) भारी बारिश होने की आशंका है.



loading...