ताज़ा खबर

अगर अपना शरीर बनाना है फौलाद तो अपनाए यह योगासन

2018-07-17_yogasan.jpg

आजकल लोग बढ़ते तनाव और गलत खान-पान की आदतों की वजह से कोई भी काम शुरू करते ही थकान महसूस करने लग जाते हैं. अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही होता है तो डॉक्टरों के चक्कर लगाना छोड़कर ये चार योगासन करें. ये खास योगासन न सिर्फ शारीरिक कमजोरी दूर करने में आपकी मदद करेंगे बल्कि पुरुषों का पौरुष भी बढ़ाएंगे. आइए जानते हैं कौन से हैं ये खास आसन

पश्चिमोत्तासन -
पश्चिमोत्तासन यानि सीटेड फॉरवर्ड बेंड आसन करने के कई फायदे हैं. इससे तनाव कम होता है और ये अंडाशय और गर्भाशय को उत्तेजित रखता है.

बद्धकोणासन -
बद्धकोणासन (बटरफलाई पोज) करने से ये जांघों, जननंगो और घुटनों को लचीला बनाता है. इस आसन में जांघो को फड़फड़ाने से पुरुषों में स्पर्म की संख्या में बढ़ोत्तरी होती है.

विपरीत करनी आसन -
विपरीत करणी आसन ( लग्स अप दा वॉल पोज) कूल्हों के आसपास के हिस्सों का रक्त संचार ठीक रखता है.

बालासन -
बालासन (चाइल्ड पोज) से हिप्स और जांघों के आसपास का हिस्सा लचीला बनता है.

कपालभांती प्राणायाम - 
कपालभांती प्राणायाम (रिदमिक रैपिड ब्रीदिंग) से रक्त कोशिकाएं शुद्ध होती हैं. जिसकी वजह से प्रजनन कोशिकाओं का विकास होता है.

नाड़ी शोधन प्राणायाम - 
नाड़ी शोधन प्राणायाम (अल्टरनेट नोस्ट्रेल ब्रीदिंग) से तनाव कम होता है और शरीर की प्रजनन क्षमता बढ़ती है.

ब्राह्मरी प्राणायाम - 
ब्राह्मरी प्राणायाम (बी ब्रीदिंग) से पीयूष ग्रंथियां यौन क्षमता को प्रभावित करने वाले सभी हार्मोन्स पर नियंत्रण रखती हैं.



loading...