ताज़ा खबर

आतंकियों से लड़ते वक्त शहीद हुए पिता को बेटी ने दी आखिरी विदाई

2018-05-22_deepaknainwal.jpg

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लड़ते वक्त शहीद हुए दीपक नैनवाल को लोग सच्चे दिल से श्रद्धांजलि दे हैं 10 अप्रैल को कुलगाम में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में 2 गोलियां सीने में लगने के बाद दीपक नैनवाल जख्मी हो गए थे उन्हें इलाज के लिए पुणे के कमांड हॉस्पिटल में भर्ती किया था. लेकिन इलाज के दौरान ही रविवार को निधन हो गया था. नैनवाल का पार्थिव देह सोमवार को देहरादून लाया गया। उनके पार्थिव शरीर को जौलीग्रांट एयरपोर्ट से इसे सीधे मिलिट्री अस्पताल के शव गृह ले जाया गया। 

सैन्य सम्मान के साथ मंगलवार को हर्रावाला स्थित उनके घर से उनकी अंतिम यात्रा शुरू हुई। हरिद्वार में शहीद दीपक नैनवाल का अंतिम संस्कार किया जा रहा है इसी बीच सोशल मीडिया पर एक फोटो खूब वायरल हो रही है जिसमें शहीद की बेटी हाथ जोड़कर अपने पिता को रोते हुए श्रद्धांजलि दे रही है



loading...