विचित्र मंदिर : जहां चढ़ाये जाते हैं लिंग और वर्जित है पुरुषों का प्रवेश

2016-08-09_penis_shrine.jpg 2016-08-09_penisshrinebangkok (2).jpg 2016-08-09_penisshrinebangkok.jpg 2016-08-09_penisshrinebangkok1.jpg 2016-08-09_penisshrinebangkok3.jpg 2016-08-09_penisshrinebangkok4.JPG 2016-08-09_penisshrinebangkok5.jpg 2016-08-09_penisshrinebangkok6.jpg 2016-08-09_penisshrinebangkok7.jpg 2016-08-09_penisshrinebangkok8.jpg

यह मंदिर बैंकॉक (थाईलैंड) में ख्लोंग स्यान नदी के किनारे है. चाओ माई को प्रजनन शक्ति की देवी माना जाता है और इनकी पूजा में चढ़ावे के रूप में लकड़ी के बने छोटे और बड़े लिंगों की भेंट चढ़ाई जाती है.

आस्थावान लोगों का मानना है कि इससे देवी प्रसन्न होती हैं और प्रजनन शक्ति का वरदान देती हैं. चाओ माई को बुद्ध पूर्व काल की एक वृक्ष-देवी माना जाता है.

इस मंदिर में पूर्वी एशिया के देशों और पूरे थाईलैंड से महिलाएं आती हैं और भेंट चढ़ाकर प्रजनन का वरदान मांगती हैं.

सिंधु घाटी सभ्यता में भी लिंग और योनि पूजा के प्रमाण मिले हैं और यह मंदिर भी उसी मानवीय पुरातन आस्था को दर्शाने का एक उदाहरण है.

हाँ , इस मंदिर में पुरुषों का जाना निषिद्ध है
 



loading...