'मोदी गो बैक': कावेरी मुद्दे पर PM का जोरदार विरोध, दिखाए काले झंडे

स्वामी नित्यानंद ने किया दावा, एक साल के अन्दर ऐसी गाय बनाऊंगा जो तमिल और संस्कृत बोलेगी

तमिलनाडु में डीएमके के पूर्व पार्षद सेल्वाकुमार ने सैलून में घुसकर महिला को लात-घूसों से पीटा, विडियो वायरल

गुटखा घोटाला मामले में सीबीआई ने 40 ठिकानों पर की छापेमारी, तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री और पुलिस महानिदेशक के आवासों पर भी छापा

तमिलनाडु में पुलिस ने पांच संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया, हिन्दू नेताओं की हत्या की कर रहे थे साजिस

अलागिरी के तेवर पड़े नरम, स्टालिन के नेतृत्व में काम करने को तैयार

मद्रास हाईकोर्ट ने कहा- टोल प्लाजा पर वीआईपी और जजों के लिए अलग लेन बनाई जाए

2018-04-12_modi54.jpg

तमिलनाडु में कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड बनाने की मांग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ राजनीतिक, सामाजिक और छात्र संगठनों ने जोरदार प्रदर्शन किया है. गुरुवार को तमिलनाडु पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी के इस दौरे का विपक्षी पार्टियों ने काले झंडे दिखाकर विरोध किया.

नई दिल्ली से एक विशेष विमान से चेन्नई पहुंचे मोदी का हवाईअड्डे पर केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण, पोन राधाकृष्षण, राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित, मुख्यमंत्री ई.पलनीस्वामी, उपमुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम और मुख्य सचिव गिरिजा वैद्यनाथन ने स्वागत किया. वहीं, चेन्नई में लोगों ने नरेंद्र मोदी के विरोध में काले गुब्बारे उड़ाए, जिस पर मोदी गो बैक के नारे लिखे हुए थे.

एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि हो सकता है कि मोदी एयरपोर्ट से सीधे डिफेंस एक्सपो चले जाएं तो ये विरोध प्रदर्शन उन्हें नहीं दिखेगा. लेकिन वे ये काले गुब्बारे देख सकते हैं, जो चीख-चीख कर तमिल जनता की मांग को गुंजायमान बना रहे हैं.

इस बीच द्रमुक सहित विपक्षी पार्टियों ने काले झंडे दिखाकर मोदी की इस यात्रा का विरोध किया. प्रदर्शनकारियों ने कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) और कावेरी जल नियामक समिति (सीडब्ल्यूआरसी) गठित करने में नाकाम रहने पर केंद्र सरकार की निंदा करने के लिए ऐसा किया. द्रमुक नेता एम. करुणानिधि ने विरोध के समर्थन में काले रंग की पोशाक पहनी और जनता के सामने आए. उनकी एक फोटो मीडिया में जारी की गई है.

तमिलनाडु के जाने पहचाने चेहरों में से एक वाइको ने भी गुरुवार को मोदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की अगुवाई करते हुए राजभवन मार्च किया. ये लोग काले रंग के कपड़े पहने हुए हाथों में काले झंडे लिए थे. साथ में काले गुब्बारे भी हवा में उड़ाए तो साइदापेट में रोड जाम किया.

वाइको ने कहा कि कावेरी बोर्ड का गठन नहीं करना एक साजिश है. दूसरी ओर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कबूतरों को काले रिबन बांध कर उन्हें उड़ाया और अपना विरोध जताया.



loading...