ताज़ा खबर

राजस्थान: गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल में 17 नए चेहरों को मिली जगह, 13 कैबिनेट और 10 राज्यमंत्री ने ली शपथ

राजस्थान में राहुल गांधी ने कहा- केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी तो देशभर के किसानों का कर्जा माफ करेंगे

राजस्थान सरकार में हुआ मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, गहलोत के पास 9 तो पायलट के पास 5 मंत्रालय

राजस्थान: आज होगा गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार, 23 विधायक बनेंगे मंत्री

राजस्थान सरकार ने भी किसानों का कर्ज माफ करने का किया ऐलान, सरकारी खजाने पर 18000 करोड़ का पड़ेगा बोझ

गहलोत-पायलट के शपथ ग्रहण समारोह में वसुंधरा राजे ने भतीजे सिंधिया को गले लगाकर दिया आशीर्वाद

राजस्थान के तीसरी बार CM बने अशोक गहलोत, सचिन पायलट को मिली डिप्टी सीएम की कमान

2018-12-24_CabinetMinisters.jpg

राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के मंत्रिमंडल का गठन हो गया है. राजभवन में राज्यपाल कल्याण सिंह ने मंत्रियों को शपथ दिलाई. कुल 23 विधायकों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई जिनमें 13 कैबिनेट और 10 राज्यमंत्री हैं. इनमें 22 विधायक कांग्रेस के हैं जबकि राष्ट्रीय लोकदल के एक विधायक को भी मंत्री पद दिया गया. 

अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल में 17 नए चेहरों को शामिल किया गया है यानि दो तिहाई से ज्यादा नए विधायकों को जगह दी गई है. सियासी जानकारों के मुताबिक राजस्थान के नवगठित मंत्रिमंडल में अशोक गहलोत के समर्थकों का पलड़ा भारी है. विधायकों की संख्या के मुताबिक 60 फीसदी अशोक गहलोत समर्थक हैं तो 40 फीसदी पायलट समर्थक माने जाते हैं. कहा जा सकता है कि एक बार फिर अशोक गहलोत सचिन पायलट पर बीस साबित हुए हैं.

ये 13 विधायक बने कैबिनेट मंत्री- बीडी कल्ला, शांति धारीवाल, परसादी लाल मीणा, मास्टर भंवरलाल मेघवाल, लालचंद कटारिया, डॉ रघु शर्मा, प्रमोद जैन भाया, विश्वेंद्र सिंह, हरीश चौधरी, रमेश चंद्र मीणा, उदयलाल आंजना, प्रताप सिंह खाचरियावास, सालेह मोहम्मद.

ये हैं 10 राज्यमंत्री- गोविंद सिंह डोटासरा, श्रीमति ममता भूपेश, अर्जुन बामनिया, भंवरसिंह भाटी, सुखराम विश्नोई, अशोक चांदणा, टीकाराम जूली, भजनलाल जाटव, राजेंद्र यादव, सुभाष गर्ग.

आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव में शुरू से बढ़त बनाई कांग्रेस को 99 सीटें मिली. वह सबसे बड़ी पार्टी तो साबित हुई, लेकिन बहुमत की दहलीज पर आकर एक सीट से चूक गई. लेकिन सरकार बनाने में सफल हुई. अशोक गहलोत तीसरी बार राजस्थान के सीएम बने हैं. उन्होंने दो दिन के अंदर ही किसानों का कर्जा माफी की घोषणा कर दी, जो कि उनकी पार्टी का सबसे बड़ा चुनावी वादा था.



loading...