राज्यसभा पद से मुकुल रॉय ने दिया इस्तीफा, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को सौंपा पत्र

2017-10-11_mukul-roy-west-bengal.jpg

तृणमूल कांग्रेस से निकाले गए नेता मुकुल रॉय ने आज राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया. अब सियासी गलियारों में ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि वह बीजेपी में शामिल होंगे या एक नए सियासी दल का गठन करेंगे. मुकुल रॉय की पिछले कुछ दिनों से बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात होती रही है. इसपर उन्होंने कहा कि इन नेताओं के साथ उनकी हमेशा ही बहुत अच्छी बातचीत हुई है.

मुकुल रॉय ने कहा कि मैंने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया है. कुछ दिन लंबी छुट्टी पर रहूंगा, उसके बाद तय करूंगा कि क्या करना है.

63 वर्षीय मुकुल रॉय को तृणमूल कांग्रेस से 25 सितंबर को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में निलंबित कर दिया गया था. इससे पहले रॉय ने घोषणा की थी कि वह दुर्गा पूजा के बाद राज्यसभा से और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे देंगे. रॉय ने संवाददाताओं को बताया (पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ) ममता बनर्जी ने मुझे वर्ष 2004 में संघ के नेताओं के साथ एक बैठक करने का आदेश दिया था.

मुकुल रॉय ने कहा, मैं उनसे कोलकाता में मिला. वर्ष 2003 में बनर्जी ने ( दिवंगत विहिप नेता ) अशोक सिंघल से अपने आवास पर मुलाकात की. इसलिए, मेरे लिए यह नयी बात नहीं है.’’बीजेपी नेताओं के साथ रिश्तों के बारे में पूछने पर रॉय ने कहा मेरी उनसे हमेशा ही बहुत अच्छी बातचीत हुई है. बता दें कि हाल ही में रॉय ने केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और बीजेपी के पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय से मुलकात की थी. उनका बीजेपी में जाना तय माना जा रहा है.



loading...