ताज़ा खबर

सूरत रेप-मर्डर केस: राजस्थान से कॉन्ट्रैक्टर समेत 2 गिरफ्तार, बच्ची को 7 दिन तक दीं यातनाएं, मां को भी मारने का आरोप

Vibrant Gujarat Summit में मुकेश अंबानी ने प्रधानमंत्री मोदी से ‘डाटा के औपनिवेशीकरण' के खिलाफ कदम उठाने का किया आग्रह

वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने कहा- कारोबार सुगमता रैंकिंग में भारत को टॉप 50 में पहुंचाने का लक्ष्य

गुजरात: चलती ट्रेन में बीजेपी के पूर्व विधायक जयंती भानुशाली की बदमाशों ने गोली मारकर की हत्या

अहमदाबाद: हॉस्पिटल से 35 किमी दूर बैठे थे डॉक्टर, रोबोट के जरिए किया दिल का ऑपरेशन

गुजरात: अक्षरधाम मंदिर पर आतंकी हमले में शामिल आरोपी 16 साल बाद गिरफ्तार

गुजरात दंगा: पीएम मोदी के खिलाफ जकिया जाफरी की याचिका पर अब 26 नवंबर को सुनवाई करेगा सुप्रीमकोर्ट

2018-04-21_murder582.jpg

गुजरात पुलिस ने 11 वर्ष की बच्ची से दुष्कर्म और हत्या के मामले को सुलझाने का दावा किया. CCTV फुटेज से एक ब्लैक कार का सुराग मिलने पर पुलिस ने राजस्थान के सवाई माधोपर जिले के गंगापुर से 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस सूत्रों ने बताया कि बच्ची का शव ठिकाने लगाने के लिए इस्तेमाल हुई कार भी बरामद हो गई. बता दें कि 6 अप्रैल को नाबालिग का शव पांडेसरा इलाके में मिला था. इसकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दरिंदगी की बात सामने आई थी. बच्ची के शरीर 86 जख्म मिले थे.

पुलिस के मुताबिक , आरोपियों तक पहुंचने में CCTV फुटेज काफी मददगार साबित हुए. कार की पहचान होने पर सबसे पहले इसके मालिक हरसहाय गुर्दर को गिरफ्तार किया गया. इसके बाद एक और आरोपी को पकड़ा गया.

बताया जा रहा है कि हरसहाय ही घटना का मास्टरमाइंड है. वह मार्बल लगाने की ठेकेदारी करता है और 6 महीने पहले बच्ची और उसकी मां को राजस्थान से सूरत लाया था. यहां उसने दोनों को सूरत के कामरेज इलाके में रखा. आरोपी अक्सर महिला से मिलने उसके घर आता-जाता था. हरसहाय की पत्नी को उसके सूरत की महिला से अवैध रिश्ते होने की बात पता चल गई थी. इसको लेकर पति-पत्नी के बीच झगड़ा होने लगा. 

वहीं, सूरत में रहने वाली महिला भी बार-बार हरसहाय से रुपए मांगती थी. महिला को लेकर आए दिन पत्नी से लड़ाई से वह परेशान हो चुका था. उसने महिला को कहीं गायब करवा दिया. इसके बाद उसकी बच्ची को अपने घर ले आया. अब बच्ची को लेकर भी विवाद शुरू हो गया. 

करीब एक हफ्ते तक हरसहाय ने बच्ची को घर में बंधक बनाकर रखा. उसे यातनाएं दी गईं. दुष्कर्म के बाद आरोपी हरसहाय ने बच्ची का गला घोंटकर हत्या कर दी और लाश को फेंक दिया. 4 दिन बाद वह पत्नी और बेटे के साथ राजस्थान के अपने गांव कुनकटा खुर्द चला गया. पुलिस ने उसे वहीं से पकड़ा.

गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने बताया कि आरोपियों को गुजरात लाया जा रहा है. मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी. इसके लिए सरकार स्पेशल पब्लिक प्रोसिक्यूटर नियुक्त करेगी. 9 अप्रैल को बच्ची के शव से कुछ किमी दूर एक महिला का शव भी मिला था. यह उस बच्ची की मां का हो सकता है.



loading...