ताज़ा खबर

कर्नाटक Live: सुप्रीम कोर्ट का आदेश, शाम 6 बजे तक स्पीकर के सामने पेश हों बागी विधायक, आज ही इस्तीफे पर लें फैसला

2019-07-11_SC.jpg

कर्नाटक के बागी विधायकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया है कि अपने इस्‍तीफे के निर्णय संबंधी सूचना को गुरुवार शाम छह बजे तक स्‍पीकर के समक्ष पेश होकर बताएं. इसके साथ ही स्‍पीकर को निर्देश दिया है कि उसके बाद वह आज ही इस्‍तीफे पर फैसला लें. कल सुप्रीम कोर्ट में स्पीकर के आदेश की कॉपी पेश की जाएगी. शुक्रवार को ही इस मामले की अगली सुनवाई होगी. सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के डीजीपी से बागी विधायकों को सुरक्षा देने को कहा है.

इस तरह सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से सत्‍तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार को बड़ा झटका लगा है. वहीं दूसरी तरफ बागी विधायकों को बड़ी राहत मिली है. दरअसल याचिकाकर्ताओं ने दलील दी थी कि मुख्यमंत्री अल्पमत में हैं और विश्वास मत हासिल करने से इनकार कर रहे हैं. याचिकाकर्ताओं ने संविधान में प्रदत्त लोकतांत्रिक सिद्धांतों की रक्षा के लिए अपने असाधारण अधिकार को क्रियान्वित करने की मांग की. याचिकाकर्ताओं का कहना है, "विधायिका का कोई भी निर्वाचित सदस्य अपनी अंतरात्मा की आवाज या अन्य जरूरी परिस्थितियों के आधार पर अपनी सदस्यता से इस्तीफा देने का हकदार है.

इस बीच सूत्रों के अनुसार कहा जा रहा है कि कर्नाटक में चल रहे सियासी संकट के बीच मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी गुरुवार को पद से इस्‍तीफा दे सकते हैं. साथ ही विधानसभा भंग करने की सिफारिश भी कर सकते हैं. इससे पहले कुमारस्‍वामी विधानसभा में अपनी कैबिनेट के साथ अहम बैठक भी कर सकते हैं. उधर एक बागी विधायक एसटी सोम शेखर मुंबई से बेंगलुरु लौट गए हैं. लेकिन कहा जा रहा है कि इस्‍तीफे को लेकर वह अपने निर्णय पर ही बरकरार हैं. दरअसल सोम शेखर बेंगलुरु डेवलपमेंट अथॉरिटी के चेयरमैन हैं. वह बेंगलुरु में जरूरी बैठक के लिए वापस गए हैं.


 



loading...