ताज़ा खबर

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को 3 महीने में जांच पूरी करने का दिया समय

2019-06-03_SupremeCourt.jpg

बिहार के मुजफ्फरपुर में शेल्टर होम में किशोरियों और बच्चियों के साथ यौन उत्पीड़न की घटना की जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को बड़ा आदेश दिया. इस मामले में दर्ज याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने केंद्रीय जांच ब्यूरो से कहा है कि वह अगले तीन महीने में जांच पूरी करे. उच्चतम न्यायालय ने आश्रयगृह मामले में सीबीआई को हत्या के पहलू सहित जांच पूरी करने के लिए सोमवार को तीन महीने का समय दिया.

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक एनजीओ द्वारा संचालित एक आश्रयगृह में बच्चियों के यौन उत्पीड़न और प्रताड़ना का मामला टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की रिपोर्ट सामने आने के बाद सुर्खियों में आया था. जस्टिस इन्दु मल्होत्रा और जस्टिस एम. आर. शाह की अवकाश पीठ ने सीबीआई को निर्देश दिया कि वह बच्चियों के साथ हुए अप्राकृतिक यौन उत्पीड़न और उनका वीडियो बनाए जाने के मामले की भी भारतीय दंड विधान की धारा 377 के तहत जांच करे. पीठ ने सीबीआई से कहा कि वह आश्रयगृह की बच्चियों को नशा देकर उनके यौन उत्पीड़न में मदद करने वाले बाहरी लोगों की भूमिका की भी जांच करे.

शीर्ष अदालत ने सीबीआई को तीन महीने के भीतर मामले पर रिपोर्ट सौंपने को कहा है. आपको बता दें कि इस मामले का मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर अभी जेल में बंद है. वहीं, उसकी एक सहयोगी मधु को भी मामले में हिरासत में लिया गया है. इन दोनों के अलावा शेल्टर होम कांड को लेकर बिहार सरकार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को अपना पद छोड़ना पड़ा था.



loading...