ताज़ा खबर

चारा घोटाले में आरोपी लालू प्रसाद यादव को बड़ा झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

2019-04-10_LaluYadav.jpg

चारा घोटाला मामले में लोकसभा चुनाव से पहले लालू प्रसाद यादव को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका खारिज कर दी है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने सीबीआई की दलील को मानते हुए लालू यादव की जमानत याचिका खारिज कर दी. दरअसल, सीबीआई ने लालू यादव की जमानत का विरोध किया था.

मंगलवार को सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट के नोटिस के जवाब में कहा था कि लालू अस्पताल से राजनीतिक गतिविधियां चलाते हैं, मेडिकल आधार पर जमानत मांगकर गुमराह कर रहे हैं क्योंकि असल में लोकसभा चुनाव के दौरान बाहर रहना चाहते हैं और अगर अब तक मिली सज़ा का जोड़ 27.5 साल है, ऐसे में लालू यादव की जमानत याचिका खारिज की जाए. सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट से कहा था कि लालू अपना ज्यादातर समय जेल के एक विशेष अस्पताल के वार्ड में बिताने में कामयाब रहे हैं. 

सुनवाई के दौरान लालू प्रसाद यादव की ओर से पेश वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि अगर लालू प्रसाद यादव जमानत पर रिहा होते हैं तो वे जमानत की शर्तों का पालन करेंगे और कहीं नहीं जाएंगे. कपिल सिब्बल ने ये भी कहा कि अगर वह जेल से बाहर आते हैं तो उसमें खतरे वाली कौन सी बात है, जिस पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि इसमें खतरे वाली बात नहीं बल्कि आप इस मामले में दोषी हैं, लिहाजा आपकी जमानत याचिका खारिज की जाती है.

इससे पहले लालू यादव की जमानत पर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को नोटिस जारी कर दो हफ्ते में जवाब मांगा था. दरअसल, चारा घोटाले के 3 मामले में लालू यादव ने स्वास्थ्य के आधार पर जमानत याचिका दायर की थी. इससे पहले झारखंड हाई कोर्ट ने लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. लालू प्रसाद यादव ने स्वास्थ्य के आधार पर जमानत मांगी थी, जिसमें कहा गया  कि लालू प्रसाद की उम्र 71 वर्ष हो गई है. उन्हें डायबटीज, बीपी, हृदय रोग सहित कई अन्य बीमारियां हैं. फिलहाल, उनका रिम्स में इलाज चल रहा है. लालू यादव प्रतिदिन करीब 13 प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं.



loading...