ताज़ा खबर

सुप्रीमकोर्ट को जल्द मिलेंगे 4 नए जज, कॉलेजियम की बैठक में इन नामों पर बनी सहमति

Lok Sabha Election: बीजेपी में शामिल हुईं पैरालंपिक खेलों की पदक विजेता दीपा मलिक, PM मोदी की प्रशंसा में कही ये बात

रेलवे के बाद अब एयर इंडिया के बोर्डिंग पास पर छपी पीएम मोदी की तस्वीर, यात्रियों ने उठाए सवाल

कांग्रेस ज्वाइन करने से इनकार करने के बाद मनोज तिवारी से सपना चौधरी ने की मुलाकात, बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष बोले- 2-3 दिन में आएगी अच्छी खबर

लोकसभा चुनाव के लिए राहुल गांधी का बड़ा वादा, कांग्रेस की सरकार बनी तो गरीब परिवारों के खाते में आयेंगे 12 हजार रुपए महीना

मुलायम और अखिलेश की बढ़ सकती है मुश्किलें, आय से अधिक संपत्ति मामले में सुप्रीम कोर्ट ने CBI से मांगी रिपोर्ट

भारतीय वायुसेना की ताकत में हुआ इजाफा, लादेन का सर्वनाश करने वाला 'चिनूक' हेलीकॉप्टर बेड़े में हुआ शामिल

2018-10-31_SupremeCourtJudge.jpg

सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम ने बुधवार को हाईकोर्ट के चार चीफ जस्टिस को पदोन्नत करके सुप्रीम कोर्ट का जज बनाने की सिफारिश की. इनमें मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस हेमंत गुप्ता, गुजरात हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस आर सुभाष रेड्डी, पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस एमआर शाह और त्रिपुरा हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अजय रस्तोगी के नाम शामिल हैं.

कॉलेजियम के प्रस्ताव के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट में जजों के 31 पद हैं. फिलहाल 24 जज काम कर रहे हैं, 7 पद खाली हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने 22 अक्टूबर को निचली अदालतों में जजों के खाली पदों को लेकर नाराजगी जाहिर की थी. शीर्ष अदालत ने इस पर सभी 24 हाईकोर्ट और राज्यों से जवाब मांगा था. निचली अदालतों में 5000 से ज्यादा पद खाली हैं.

संसद में चर्चा के लिए मार्च में तैयार की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक- भारत में जज-आबादी का अनुपात 19.46 प्रति 10 लाख है. यानी 10 लाख की आबादी पर सिर्फ 19 जज हैं.



loading...