ताज़ा खबर

पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा- भाजपा सरकार होने के बाद भी जरुरी मुद्दे कांग्रेसी नेताओं के जरिए उठाती थी

2019-12-03_SumitraMahajan.jpg

केंद्र की मोदी सरकार पर बजाज समूह के चेयरमैन राहुल बजाज की टिप्पणी के बाद से विपक्षी नेताओं समेत अन्‍य उद्योगपतियों के भी लगातार रिएक्‍शन आ रहे हैं. विपक्ष ने सरकार पर लोगों की आवाज को दबाने का आरोप लगाया है. इस बीच लोकसभा की पूर्व स्‍पीकर सुमित्रा महाजन ने कुछ ऐसी बात कही है, जिससे बीजेपी न सिर्फ असहज हो सकती है, बल्‍कि पार्टी की आंतरिक राजनीति में भूचाल आ सकता है. हालांकि सुमित्रा महाजन ने मोदी सरकार के लिए कुछ नहीं कहा है. उन्‍होंने जो भी कहा है, वह मध्‍य प्रदेश की तत्‍कालीन शिवराज सिंह सरकार को लेकर कहा गया है. इसे लेकर उनका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है.

इंदौर से 8 बार सांसद रहीं सुमित्रा महाजन ने कहा, कई महत्वपूर्ण मुद्दों को उठाने के लिए वह कांग्रेस नेताओं से संपर्क करती थीं. खुद से कुछ कहने के बदले वह कांग्रेसी नेताओं का सहारा लेती थीं. वह मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई वाली बीजेपी के शासनकाल में महत्वपूर्ण मुद्दों पर खुद से कुछ नहीं कह सकती थीं, जबकि राज्य में उनकी ही पार्टी की सरकार थी.

सुमित्रा महाजन ने कहा, 'मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई वाली सरकार में अहम मुद्दों को लेकर मैं चुप रहती थी. मुझे लगता था कि इंदौर की जनता के हित के लिए कुछ मुद्दों को उठाना चाहिए तो मैं कांग्रेस के नेताओं का सहारा लेती थी.'

सुमित्रा महाजन ने कहा, 'कोई बात उठाने के लिए मैं जीतू पटवारी और तुलसी सिलावट को धीरे से कहती थी कि तुम कुछ करो.' उन्‍होंने कहा, 'जीतू पटवारी में मेरे शिष्य बनने के सभी गुण हैं. सब इंदौर का भला चाहते हैं. पार्टी अपनी जगह है.' रविवार को राज्‍य के शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने अपने घर में एक संवाद का कार्यक्रम रखा था, जिसमें मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन और जीतू पटवारी के साथ मंत्री तुलसी सिलावट भी मौजूद थे.
 



loading...