ताज़ा खबर

पाकिस्तान के क्रिकेटर शोएब मलिक ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास, पत्नी सानिया मिर्जा हुईं भावुक

2019-07-06_SoiabMalik.jpg

पाकिस्तान के दिग्‍गज क्रिकेटर शोएब मलिक ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. मलिक ने शुक्रवार को बांग्लादेश के खिलाफ जीत हासिल करने के बाद यह घोषणा की. आईसीसी विश्व कप-2019 के अपने अंतिम मैच में पाकिस्तान क्रिकेट टीम ने बांग्लादेश को 94 रनों से हराया. विश्वकप के शुरू में कई मैच हारने की वजह से बाद में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद पाकिस्तान सेमीफाइनल में जगह नहीं बना सका.

शोएब मलिक ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा कि मैं एकदिवसीय क्रिकेट से संन्‍यास ले रहा हूं. मैंने कुछ साल पहले ही फैसला कर लिया था कि मैं पाकिस्तान के आखिरी वर्ल्ड कप मैच के बाद रिटायर हो जाऊंगा. मैं इस बात से दुखी हूं कि क्रिकेट के उस फॉरमैट को अलविदा कह रहा हूं, जिससे कभी मुझे प्यार था लेकिन खुशी इस बात की है कि अपने परिवार के साथ बिताने के लिए अब मेरे पास ज्यादा वक्‍त होगा.

इस घोषणा के साथ ही शोएब मलिक का 20 वर्ष लंबा वनडे क्रिकेट करियर समाप्त हो गया है. मलिक ने विश्व कप से पहले ही बताया था कि विश्व कप में पाक का अंतिम मुकाबला उनके करियर का आखिरी वनडे मुकाबला होगा, इसके बाद वह टी-20 पर फोकस करेंगे. हालांकि विश्व कप में खराब प्रदर्शन के बाद उन्हें टी-20 टीम में जगह मिल भी पाएगी या नहीं यह कहना मुश्किल है.

शोएब मलिक को इस विश्व कप में सिर्फ तीन मैच खेलने का मौका मिला था. 16 जून को भारत के खिलाफ मैच उनके करियर का आखिरी वनडे साबित हुआ. शोएब ने 14 अक्टूबर 1999 में वेस्टइंडीज के खिलाफ शारजाह में अपने वनडे करियर का आगाज किया था. शोएब के नाम 287 वनडे में 34.55 के औसत से 7534 रन बनाए हैं.

शोएब मलिक के नाम 9 शतक और 44 अर्धशतक हैं. उन्होंने 158 विकेट भी लिए हैं. मलिक टेस्ट क्रिकेट में 35 मैच में 1898 रन बनाए हैं और 32 विकेट लिए हैं. क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप यानी टी-20 में वो पाकिस्तान टीम के अहम खिलाड़ी हैं. उन्होंने पाकिस्तान के लिए 111 मैंचों में 30.58 की औसत से 2263 रन बनाए हैं.

वहीँ पति शोएब मलिक के संन्यास पर पत्नी सानिया मिर्जा ने ट्वीट कर लिखा- 'हर कहानी का एक अंत होता है, लेकिन जिंदगी में हर अंत एक नई शुरुआत होती है. शोएब मलिक, आपने गर्व के साथ अपने देश के लिए 20 साल तक खेला और आप आगे भी काफी सम्मान और विनम्रता से ऐसा करते रहेंगे. आपने जो कुछ हासिल किया है और आप जो हैं, इसके लिए इजान (बेटा) और मुझे गर्व है.'


 



loading...