ताज़ा खबर

मध्य प्रदेश: शिवराज सरकार 30 हजार शिक्षकों की करेगी भर्ती, 15 अगस्त से शुरू होगी प्रक्रिया

मध्यप्रदेश में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा- कांग्रेस को मूल समेत उखाड़ फेंकना है

मध्यप्रदेश में बोले राहुल गांधी, चौकीदार ने चोरी करवा दी, पीएम मोदी ने यह नहीं बताया बेटी किससे बचानी हैं

भोपाल: भाजपा महाकुम्भ में बोले पीएम मोदी, बोझ बन गई है कांग्रेस, देश के बाहर कर रही है गठबंधन

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बन रहे घरों से PM मोदी और शिवराज की फोटो हटाने के आदेश

मध्यप्रदेश: विधानसभा चुनाव से पहले इन प्रस्तावों पर लगी मुहर, 7 नई तहसीलों का होगा गठन

मध्यप्रदेश में राहुल गांधी ने किया वादा, कांग्रेस सत्ता में आई तो चीनियों के हाथ में होगा ‘मेड इन भोपाल’ का मोबाइल

2018-07-19_CMShivrajSingh.jpg

मध्य प्रदेश के शिक्षकों के लिए सरकार के अच्‍छी खबर लेकर आई है. विधानसभा चुनाव से पहले सरकार जनता को हर तरह की सुविधा मुहैया कराने की कोशिश में लगी हुई है. इसी कड़ी में शिक्षकों के लिए बड़े पैमाने पर भर्ती निकलने वाली है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना 'संबल' की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को इस बात के निर्देश दिए हैं. 

ये भर्तियां 30 हजार से ज्यादा नियमित शिक्षकों के पद पर होंगी जिसकी प्रक्रिया 15 अगस्त तक शुरू हो जाएगी. इसी के तहत संबल योजना के दायरे में आने वाले पंजीकृत व्यक्तियों के बच्चों ने यदि स्कूल या उच्च शिक्षण संस्थान में फीस जमा कर दी है तो वो भी वापस लौटाई जाएगी. मुख्यमंत्री ने इस समीक्षा के दौरान अधिकारियों से इस बात पर भी चर्चा की कि बकाया बिजली बिल माफी से लोग बहुत खुश हैं और अच्छा फीडबैक आ रहा है. सबल योजना गरीबों का सहारा बन गई है और इस योजना में पंजीयन की तकनीकी बाधाओं को दूर कर पंजीकृत व्यक्तियों को लाभ का भुगतान बिना देरी के किया जा रहा है. 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने आगे कहा कि योजना में शामिल हितग्राहियों के बच्चों ने यदि फीस भर भी दी है तो उन्हें तत्काल पैसे लौटाए जाएं. इस बारे में स्कूल और कॉलेजों में कोई भी मतभेद नहीं होना चाहिए. इसको लेकर स्पष्ट आदेश जारी किए जाएं. वहीं शिक्षा विभाग में नियमित शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया तत्काल शुरू की जाए. विभागीय अधिकारियों का कहना है कि 15 अगस्त तक नियमित शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया की सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली जाएंगी. इस दौरान मुख्य सचिव बीपी सिंह सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे.

देवास में प्रदेश के स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री दीपक जोशी ने कहा कि शिक्षकों की कमी, संविदाकर्मी कल्चर खत्म करने और गुणवत्ता सुधार के लिए ऐसा किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि छात्र कल्याण के लिए मुख्यमंत्री हमेशा तत्पर रहते है. पहले गुणवत्ता के लिए हमने सरकारी तंत्र को मजबूत किया और लोगों का विश्वास बढ़ा. अब हम शिक्षकों की जो कमियां है, जो कि शिक्षा व्यवस्था को बाधित करती थी. इसके लिए 70 हजार शिक्षकों की भर्ती PAB के माध्यम से हम करने जा रहे हैं. इसे हम पहले कर लेते लेकिन अतिथि शिक्षकों को भी इसमें वेटेज देने की व्यवस्था हमने की है.



loading...