राम मंदिर पर कोई विवाद नहीं होगा, मंदिर जहां है वहीं बनेगा : शिया वक्फ बोर्ड

अलकायदा, आईएस के नए संगठनों पर मोदी सरकार ने लगाया प्रतिबंध

नौकरी के नाम पर UP के युवाओं से घाटी में पत्थरबाजी के लिए बनाया दबाव, जान बचाकर लौटे युवक

अंतरराष्ट्रीय योग दिवसः पीएम मोदी ने देहरादून में 55 हजार लोगों के साथ किया योगासन, बोले- योग की वजह से भारत से जुड़ी दुनिया

पीएम मोदी ने नमो ऐप पर किसानों को संबोधित किया, कहा- 2022 तक दोगुनी आय करना हमारी सरकार का लक्ष्य

भारत ने कहा- पाकिस्तान से बातचीत को लेकर तीसरे पक्ष का दखल मंजूर नहीं, चीनी राजदूत ने दिया था प्रस्ताव

जम्मू-कश्मीर: महबूबा मुफ्ती ने दिया इस्तीफा, राज्यपाल से मिले उमर अब्दुल्ला, कहा- न समर्थन लेंगे और न ही देंगे, जल्द चुनाव हों

2017-11-10_ayodhya4.jpg

गुरुवार को शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके ऑफिस में मुलाकात की. 20 मिनट की मुलाकात के बाद र‍जिवी ने मीडिया से कहा कि मैंने राम मंदिर बनाने को लेकर मुलाकात की है. जिस स्थान पर मंदिर है, वहां मंदिर ही बनेगा. मस्जिद किसी मंदिर को गिराकर नहीं बनाई जा सकती, इसलिए उसे अयोध्या से बाहर या दूर किसी मुस्लिम क्षेत्र में बनाने पर हमने बात की है. इसके लिए मैं पक्षकारों से बात कर रहा हूं.

रिजवी ने कहा कि मैं सभी पक्षकारों से बात कर रहा हूं. सभी ने करीब-करीब मंदिर पर सहमति दे दी है. कुछ मुद्दों पर बात होनी बाकी है. उनको भी पूरा कर लिया जाएगा.

राम मंदिर पर कोई विवाद नहीं होगा. मंदिर जहां है वहीं बनेगा, किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं है. हम बात करके जल्द ही मुद्दे को सुलझा लेंगे. मस्जिद अयोध्या से दूर बनाने पर बात हो रही है. ऐसी किसी जगह को तलाशा जाएगा, जो मुस्लिम बस्ती हो. मंदिर-मस्जिद मसले पर मुख्यमंत्री योगी से मुलाकात हुई है. हमारी बातचीत काफी सकारात्मक रही.

बता दें कि 1949 में विवादित ढांचे में रामलला की मूर्ति सामने आने के बाद विवाद शुरू हुआ. तब सरकार ने इस जगह को विवादित घोषित कर दिया और इस जगह ताला लगा दिया गया था.



loading...