ताज़ा खबर

सुहागरात पर दूध पीना क्यों है जरुरी?, जानिए दूल्हा-दुल्हन क्यों निभाते हैं ये रस्म

2019-11-28_WeddingNight.jpg

शादी दो दिलों का ही नहीं बल्कि दो जिस्मों का भी मिलन होता है. इस अहसास को लेकर हर किसी के मन में अलग-अलग ख्याल आते हैं. सबसे सबसे खास अहसास शादी की पहली रात का होता है क्योंकि हर शादीशुदा जोड़े के लिए यह रात बहुत अहम होती है. इस रात कई रस्में भी निभाई जाती हैं. 

इस मौके पर जो सबसे ज्यादा फेमस रस्म है, दूल्हे को एक गिलास केसर वाला दूध पिलाना. इस रस्म को आपने कई फिल्मों, टीवी सीरियल में देखा होगा. या फिर हो सकता निजी जिंदगी में भी आपको इसका अनुभव रहा हो. लेकिन इस रस्म को निभाने के पीछे की वजह क्या है? क्या आप जानते हैं?.

सबसे पहले आपको बताते हैं ये दूध बनाया कैसे जाता है. ये आम दूध नहीं होता बल्कि इसमें केसर, चीनी, हल्दी, काली मिर्च पाउडर, बादाम, सौंफ और अन्य चीजें डालकर खूब उबाला जाता है और फिर गुनगुना होने पर दूल्हे हो पिलाया जाता है.

शादी की पहली रात यानि सुहागरात पर दूल्हे को पिलाये जाने वाले दूध में काली मिर्च और बादाम का अनोखा मिश्रण होता है. जब इसे उबाला जाता है तो इसमें से कुछ ऐसे तत्व निकलते हैं जो रोमांस को बढ़ा देते हैं और इसको पीने के बाद पुरुष पार्टनर बेहतर Orgasm Feel करता है.

दूध को पीने से नर्वसनेस कम हो जाती है और जोश व उत्साह में बढ़ोतरी होती है. इसके साथ इस दूध में डाले गए केसर और बादाम की खुशबू से हार्मोन भी अधिक संचारित होते हैं और दूल्हे का मूड अच्छा होता है. इस दूध में काली मिर्च, सौंफ और हल्दी मिली होती है जिसके कारण यह एक एंटी बैक्टीरियल और Immunity बढ़ाने वाला मिक्सचर बन जाता है.

जब दुल्हन अपने पार्टनर को अपने हाथों से यह दूध पिलाती है तो उन दोनों के बीच यह पल उनके रिश्ते को गर्माहट देता है, वह एक दूसरे के करीब आते हैं. जब दोनों मिलकर इस दूध को पीते हैं तो उनके बीच की नजदीकियां बढ़ती हैं. सुहागरात पर ऐसा करने से उनके रोमांस में बढ़ोतरी होती है और दोनों को ही आनंद मिलता है.


 



loading...