डॉन मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या के बाद सामने आई पत्नी, कहा- हत्या के पीछे रेल मंत्री का हाथ

योगी कैबिनेट ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज और फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या करने पर लगाई मुहर

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया मल्टी मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन

अब अयोध्या और मथुरा के लिए योगी सरकार ने तैयार किया बड़ा प्लान, मांस-मदिरा की बिक्री और सेवन पर लगेगा पूर्ण प्रतिबंध

उत्तर प्रदेश: उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा- जब भगवान राम चाहेंगे तब अयोध्या में मंदिर का निर्माण हो जाएगा

हरदोई-लखनऊ ट्रैक पर ट्रेन से कटकर 4 गैंगमैन की मौत

नोएडा स्टेडियम में हुई ताइक्वांडो चैंपियनशिप में सौम्या महाजन ने ट्रॉफी के साथ गोल्ड मेडल पर किया कब्जा

2018-07-09_MunnaBajrangimurdercase.jpg

अंडरवर्ल्ड डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद उनकी पत्नी सीमा सिंह मीडिया के सामने आई, और उन्होंने खुलकर अपनी बात रखी. उन्होंने रेल मंत्री समेत कई बड़े नेताओं पर हत्या की साजिश का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि शासन और प्रशासन ने कई लोगों के साथ मिलकर उनके पति की हत्या का षड्यंत्र रचा. सीमा ने कहा कि आरोपी लोग नहीं चाहते थे कि वह राजनीति में आगे जाए. उन्होंने बताया कि इससे पहले भी जेल में उन पर हमला हुआ था. जिसकी हमने सभी जगह शिकायत की थी. लेकिन कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो सकी. 

वहीं मुन्ना की पत्नी सीमा सिंह ने पोस्टमार्टम के बाद शव को लखनऊ ले जाने की धमकी दी है. इस दौरान सीमा ने मुख्यमंत्री कार्यालय पर धरना देने की बात कही. वहीं मीडिया कर्मियों ने उनसे बात करने की कोशिश की तो उन्होंने मीडिया से बात करने से मना कर दिया. उत्तर प्रदेश की बागपत जिला जेल में सोमवार सुबह अंडरवर्ल्ड डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इस वारदात के बाद जेल प्रशासन से लेकर लखनऊ तक अधिकारियों में हड़कंप मच गया है. वहीं फोरेंसिक टीम और डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी मौके पर पहुंचे और उन्होंने घटना की पूरी जानकारी ली. इतना ही नहीं डीआईजी जेल ने इस मामले की सही ढंग से जांच कराने के आदेश दिए हैं. यह भी पढ़ें: यूपी: डॉन मुन्ना बजरंगी के सिर में मारी गईं 10 गोलियां, जानिए कैसे प्रेम प्रकाश बना गैंगस्टर

मुन्ना बजरंगी की हत्या के पीछे वेस्ट यूपी और उत्तराखंड में सक्रिय सुनील राठी गैंग का हाथ बताया जा रहा है. सुनील राठी यूपी के साथ उत्तराखंड में सक्रिय है. सुनील की मां राजबाला छपरौली से बसपा से चुनाव लड़ चुकी है. इस मामले में सीएम के आदेश के बाद जेलर उदय प्रताप सिंह, डिप्टी जेलर शिवाजी यादव, अरजिंदर सिंह (हेड वार्डन) और माधव कुमार (वार्डन) को निलंबित कर दिया गया है. यह भी पढ़ेंमुन्ना बजरंगी की पत्नी ने सीएम योगी से लगाई थी सुरक्षा की गुहार, 10 दिन पहले जताई थी हत्या की आशंका

गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी की हत्या के मामले में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने कहा कि, जेल परिसर के अंदर होने वाली ऐसी घटना एक गंभीर बात है. जिम्मेदार लोगों के खिलाफ गहन जांच और सख्त कार्रवाई की जाएगी.



loading...