महाराष्ट्र पुलिस पर आरोपी की हत्या कर शव जलाने का आरोप, 6 पुलिसकर्मी गिरफ्तार

2017-11-09_police-Death-in-Custody.jpg

सांगली के पुलिस थाने में एक आरोपी की थर्ड डिग्री टॉर्चर से मौत हो गई लेकिन पुलिस ने मामला दबाने के लिए उसकी बॉडी 100 किमी दूर आंबा घाट में ले जाकर जला दी। बाद में पुलिस ने आरोपी के कस्टडी से भागने की झूठी कहानी रची। परिजन ने आरोपी की मौत कस्टडी में होने का दावा किया था। पुलिस जांच में यह सच्चाई सामने आई है। एक एसआई समेत 6 पुलिसवालों को गिरफ्तार किया गया है।

5 नवंबर को तड़के सांगली-कोल्हापुर रोड पर एक इंजीनियर के साथ चाकू की नोंक पर लूटपाट हुई थी। पुलिस ने उसी दिन शाम को इस मामले में अनिकेत (26) और अमोल (23) को गिरफ्तार किया था। 

पुलिस ने बताया था कि 6 नवंबर की रात दोनों को विश्राम बाग पुलिस थाने से सटे डिटेक्शन ब्रांच के ऑफिस में जांच के लिए ले जाया जा रहा था। इसी दौरान दोनों भाग निकले। 7 नवंबर की शाम अमोल कर्नाटक के निपाणी में मिला, लेकिन अनिकेत का कुछ पता नहीं चला था।

पुलिस के रैवेये को लेकर अनिकेत के परिजन को पहले से शक था, इसलिए उन्होंने 7 नवंबर को थाने पर धरना दिया। परिजन ने इंस्पेक्टर युवराज कामठे पर अनिकेत को गायब करने का शक जताया। जब सीनियर अफसरों ने अमोल से पूछताछ की तो उसने सारी सच्चाई बताई।

अमोल ने बताया कि 6 नवंबर की रात पुलिस दोनों को पूछताछ के लिए अलग-अलग कमरों में ले गई। थर्ड डिग्री टोर्चेर से अनिकेत की मौत हो गई। उसी रात 12 बजे उसकी बॉडी को कृ्ष्णा नदी के पास ले गए। वहां पर मुझे भी दो घंटे तक पकड़कर रखा। अनिकेत की बॉडी को पेट्रोल छिड़ककर जलाने की कोशिश की। लेकिन बॉडी पूरी तरह से नहीं जली। इसके बाद कामठे एक अन्य इम्प्लॉई की गाड़ी से अनिकेत की बॉडी को आंबा घाट ले गए। वहीं पर बॉडी जलाई। "

पुलिस ने अमोल को निपाणी में छोड़ धमकाते हुए कहा कि वह लोगों को यही बताए कि दोनों कस्टडी से भाग निकले थे। अगर सच्चाई बताई दी तो तेरा भी एनकाउंटर करेंगे। इसके बाद 7 नवंबर को इंस्पेक्टर कामठे ने दोनों आरोपियों के पुलिस कस्टडी से भागने की रिपोर्ट लिखी।

7 नवंबर को ये सारी बातें अमोल ने सीनियर अफसरों को जांच के दौरान बताईं। मामले की जांच में पता चला कि सब इंस्पेक्टर युवराज कामठे और 5 कॉन्स्टेबल अनिल लाड, अरुण टोणे, सूरज मुल्ला, राहुल शिंगटे और जाकिर पट्टेवाला अनिकेत की मौत के लिए जिम्मेदार है। पुलिस ने पांचों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर सस्पेंड कर दिया है। बताया जाता है कि यह मामला अब सीआईडी को सौंपा गया है।



loading...