शनिवार की शाम रही म्यूजिकल, DTC में हुई धमाकेदार परफॉरमेंस पर जमकर थिरके लोग

2017-11-13_sangeetsafar.jpg

बीती शाम दिल्ली में सुरों का ऐसा आतंक छाया मानो एक साथ कई सारे सुरीले फनकार एक जगह पर जमा हो गये हों. अवसर था डीटीसी के मासिक कार्यक्रम ‘संगीत सफ़र’ का. यह वही मंच है जिसका सृजन संगीतकार राज महाजन ने किया है.

बारहवे मासिक कार्यक्रम में हर उम्र के फनकारों ने कई बेहतरीन गाने गाकर सभी का मन मोह लिया. आराधना शर्मा, डिंपल शर्मा, शुभम राजपूत, शुभम गुप्ता, हैदर अली, राजन, मारूफ मिर्ज़ा, तिलक खेरा, ओ.पी.शर्मा, प्रदीप फुलारा, रवि वोहरा, विपिन शर्मा, गिरीश सिंह, विजय सिंह, विष्णु देव, समीर श्रीवास्तव, गिरीश, योगेन्द्र खोखर, राजेश कुमार, विजय किशोर, आशा शर्मा, आर.के.मिश्रा और तिलक खेरा...सभी के गाये गानों ने सारा आलम ही संगीतमय बना दिया.

इस बार खास आकर्षण था ‘डुएट परफॉरमेंस’...यानि सभी को जोड़ियों में गाना था. आराधना और राजेश कुमार के गाये ‘तेरे मेरे मिलन की’, समीर श्रीवास्तव और डिंपल शर्मा के गाये ‘छुप गए सारे नजारे’, विजय किशोर और डिंपल शर्मा के गाये ‘उड़े जब जब जुल्फे तेरी’ वाकई में गज़ब रहे.

इसके इतर विपिन शर्मा और योगेन्द्र खोकर की जुगलबंदी ने तो सभी को नाचने पर मजबूर कर दिया. इस मौके पर मोक्ष म्यूज़िक ने अपने आगामी गानों की स्क्रीनिंग भी की. इनमें शामिल थे ‘सोचा न था जाना न था’, ‘माँ ही है सहारा’ और ‘अकेला छोड़ गये’. राज महाजन हमेशा उन लोगों को चांस देते हैं जिनके पास अपना टैलेंट शोकेज़ करने का कोई जरिया नहीं होता. राज ने कई लोगों को उनकी मंजिल तक पहुँचाया है.

जाते–जाते सभी लोगों ने जमकर ठुमके लगाए. लोगों को देखकर लग रहा था उनकी मस्ती का आलम चरम पर था.



loading...