ताज़ा खबर

इस एकादशी पर व्रत रखने से मिलती है सफलता

2016-12-24_god54.jpg

लोगों का कार्य उन्हें सफल बनाने में अहम भूमिका निभाता है, जरूरत है तो बस लगातार मेहनत करने की. वहीं, कुछ हद तक सफलता किस्मत पर भी निर्भर करती है. वहीं, पौष मास में कृष्ण पक्ष की एकादशी को सफला नामक एकादशी कहा गया है. यह एकादशी व्रत इस वर्ष 24 द‌िसंबर को है.

यह एकादशी अपने नाम के अनुसार मनोकामना सफल करने वाली एकादशी है. पुराणों में बताया गया है कि जो व्यक्ति विधिवत रूप से एकादशी का व्रत और रात्रि जागरण करता है, उसे वर्षों तक तपस्या करने का पुण्य प्राप्त होता है. पद्म पुराण में सफला एकादशी के महात्म्य का वर्णन मिलता है. भगवान श्री कृष्ण ने युधिष्ठिर को बताया है कि सफला एकादशी व्रत के देवता श्री नारायण हैं. जो व्यक्ति सफला एकादशी के दिन व्रत रखकर भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करता है.

रात्रि में जागरण करते हैं ईश्वर का ध्यान और श्री हरि के अवतार एवं उनकी लीला कथाओं का पाठ करता है, उनका व्रत सफल होता है और उस व्यक्ति के जीवन में आने वाले दुःखों को पार करने में भगवान सहयोग करते हैं. जीवन का सुख प्राप्त कर व्यक्ति मृत्यु के पश्चात सद्गति को प्राप्त होता है.

इस दिन संध्या के समय पुनः भगवान की पूजा और आरती के बाद भगवान की कथा का पाठ करें. एकादशी के दिन चावल से बना भोजन, लहसुन, प्याज, मांस, मदिरा का सावन न करें.



loading...