ताज़ा खबर

PFI और RSS देते हैं हथियारों की ट्रेनिंग, लगाएंगे बैन: पी. विजयन, समर्थन में उतरे बाबा रामदेव

सबरीमाला मंदिर में सबसे पहले एंट्री कर दर्शन करने वाली महिला को सास ने पीटा, हॉस्पिटल में भर्ती

गूगल सर्च में Bad Chief Minister सर्च करने पर आ रहा है केरल के सीएम पिनराई विजयन का नाम, समर्थकों ने RSS पर लगाया आरोप

केरल में सबरीमाला मामले को लेकर हिंसक प्रदर्शन, भाजपा और सीपीआईएम नेता के घर बम से हमला

केरल: सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर प्रदर्शन, झड़प में 1 की मौत, CM ने कड़ी कार्रवाई के दिए निर्देश

सबरीमाला मंदिर में 2 महिलाओं ने प्रवेश कर भगवान अयप्पा के किए दर्शन, केरल में हाई अलर्ट

कोच्चि में नौसेना बेस पर बड़ा हादसा, एयरक्राफ्ट हैंगर गिरने से दो जवानों की मौत

2018-03-22_Pinarayi-Vijayan-indiaa.jpg

केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) जैसे संगठनों पर प्रतिबंध लगाने के लिए कानून बनाने की बात कही है। बुधवार को विजयन ने विधानसभा में कहा कि आरएसएस और पीएफआई गैर-कानूनी तरीके से लोगों को हथियार चलाने की ट्रेनिंग दे रहे हैं। इसके बाद बाबा रामदेव ने संघ को राष्ट्रवादी संगठन करार दिया। बता दें कि केरल में सीपीआईएम और आरएसएस कार्यकर्ताओं के बीच विचारधारा की लड़ाई चल रही हैं। यहां आए दिन होने वाली भिड़ंत में कई लोगों की जानें जा चुकी हैं।

मुख्यमंत्री विजयन ने कहा, ''पीएफआई और आरएसएस अपने कार्यकर्ताओं को हथियारों की ट्रेनिंग देते हैं। ऐसे प्रशिक्षण कानून के मुताबिक सही नहीं हैं। हमारे पास सूचना है कि देवाश्म मंदिर के आसपास लोगों को ट्रेनिंग दी जा रही है। अगर जरूरत पड़ी तो इन पर प्रतिबंध लगाने के लिए कानून बनाएंगे।''

इस पर योगगुरु बाबा रामदेव ने कहा, ''मैं आरएसएस के नेताओं को करीब से जानता हूं। आरएसएस कोई आतंकी या नक्सली संगठन नहीं है। यह तो राष्ट्रवादी संगठन है और वो कभी कुछ ऐसे नहीं करेगा, जिससे देश को नुकसान हो।''

विजयन के इस बयान पर केरल में मौजूद संघ के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने विरोध दर्ज कराया। केरल का यह मामला अब दिल्ली तक पहुंच चुका है। 

,


loading...