बिहार में अपराधियों के हौसले बुलंद, पूर्व सांसद मोहम्मद शाहबुद्दीन के भतीजे की गोली मारकर हत्या

बिहार के गया में प्रेमी जोड़े ने जान देकर चुकाई प्यार की कीमत, पुलिस ने दोषियों को किया गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर शेल्टर केस में नागेशवर राव पर अवमानना के आरोप में सुप्रीम कोर्ट ने लगाया 1 लाख का जुर्माना, दिनभर कोर्टरूम के कमरे रहेंगे बैठे

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, एम नागेश्वर राव को अवमानना का नोटिस, दिल्ली ट्रांसफर किया केस

लोकसभा चुनाव से पहले बिहार में नीतीश कुमार को तो गुजरात में राहुल गांधी को बड़ा झटका, दल बदलेंगे नेता

आईआरसीटीसी घोटाला मामला: लालू यादव एंड फॅमिली को 1-1 लाख रुपए के निजी मुचलके पर मिली जमानत, 11 फरवरी को होगी अगली सुनवाई

EVM Hacking पर नीतीश कुमार ने कहा- ईवीएम से ही मजबूत हुआ लोगों का मताधिकार

2019-02-04_Yusuf.jpg

बिहार में अपराधियों के हौसले बुलंद है. सीवान जिले के दक्खिन टोला में राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद मोहम्मद शाहबुद्दीन के भतीजे युसूफ की शुक्रवार रात को अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी है. युसूफ की हत्या के बाद से पूरे इलाके में भय का माहौल बना हुआ है. युसूफ को काफी करीब से सीने में गोली मारी गई है. जिसके बाद उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

युसूफ की हत्या की खबर मिलने पर बहुत बड़ी संख्या में लोग अस्पताल पहुंचे और हंगामा करने लगे. जिसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची और मामले को अपने काबू में किया. बढ़ते तनाव को देखते हुए घटनास्थल के आसपास भारी पुलिसबल की तैनाती की गई है. हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है. दूसरी तरफ पुलिस आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है.

आपको बता दें कि युसूफ के चाचा और राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद शाहबुद्दीन इस समय तेजाब हत्याकांड मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद हैं. उन्हें निचली अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. उनके वकील ने इस फैसले को पटना हाईकोर्ट में चुनौती दी थी लेकिन उन्हें वहां से भी कोई राहत नहीं मिली.  

सीवान की एक अदालत ने तेजाब हत्याकांड में 11 दिसंबर, 2015 को उन्हें दो भाईयों की तेजाब डालकर हत्या करने के आरोप में शाहबुद्दीन सहित चार लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी. 16 अगस्त, 2004 को सीवान के व्यापारी चंद्रकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू के बेटों गिरीश, सतीश और राजीव का अपहरण कर लिया गया था. गिरीश और सतीश की बाद में तेजाब डालकर हत्या कर दी गई थी. वहीं राजीव किसी तरह अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भाग निकलने में सफल रहा था.



loading...