ताज़ा खबर

जम्मू कश्मीर: चोटी कटने की घटनाओं के विरोध में प्रदर्शन करने जा रहे अलगाववादी हिरासत में, इंटरनेट सेवा बंद

2017-10-06_Hair-cut-kashir.jpg

जम्मू कश्मीर में चोटी कटने की लगातार घटनाओं ने प्रदर्शनों का सिलसिला बढ़ा दिया है. चोटी कटने की घटनाओं को लेकर अलगाववादियों के बंद और प्रदर्शन के आह्वान के बाद हालात मुश्किल  होते जा रहे हैं. विरोध प्रदर्शन बुलाए जाने पर सरकार ने अलगाववादी नेता मीर वाइज उमर फारूक को घर में नजरबंद कर दिया है. वहीं यासीन मलिक को हिरासत में लिया गया है.

चोटी कटने की घटनाओं के चलते बढ़ रही अफवाहों के मद्देनजर घाटी में इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी गई है. कश्मीर में चोटी काटने वाले की सूचना देने पर पहले 10 लाख रुपये का इनाम रखा गया था, जिसे बाद में बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दिया गया. इसे लेकर माहौल लगातार तनावपूर्ण होता जा रहा है. इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती भी कई बैठकें कर चुकी हैं. लेकिन घटनाओं पर अब तक काबू नहीं पाया जा सका है.

वहीं, पुलिस ने श्रीनगर शहर के मैसुमा, महाराजगंज, नौहट्टा, करालखुद, खांन्यार, सफाकदल और रैनवाड़ी पुलिस स्टेशन के क्षेत्रों में प्रतिबंध लगाया है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि जुमे की नमाज के बाद हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए एहतियातन प्रतिबंध लगाया गया. अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारुक और मोहम्मद यासीन मालिक ने चोटी काटने की घटनाओं सहित कई अन्य मुद्दों को लेकर लोगों से शांति पूर्ण विरोध प्रदर्शन करने की अपील की थी.

कश्मीर के अलगावावादियों ने जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जा पर कथित हमला और चोटी काटने की घटनाओं सहित विभिन्न मुद्दों पर विरोध जताने के लिए यहां 14 अक्तूबर को टीआरएसी मैदान में एक रैली बुलाई है. अलगाववादियों ने एक बयान में कहा कि सैयद अली गिलानी, उमर फारूक और मोहम्मद यासिन मलिक नीत संयुक्त प्रतिरोधी खेमा ने 14 अक्तूबर को टीआरसी पोलो व्यूज में एक राज्य स्तरीय जन सभा करने का फैसला किया है. इन लोगों ने विशाल बड़ी संख्या में लोगों की भागीदारी की अपील की है.

उन्होंने कहा कि चोटी काटने की घटनाएं महिलाओं की मर्यादा पर हमला है. इन हरकतों के खिलाफ लोगों से एकजुट होने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और जम्मू कश्मीर के उप मुख्यमंत्री निर्मल सिंह के भड़काऊ बयानों को लेकर उन तत्वों के खिलाफ प्रतिरोध का फैसला किया गया है.

जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में चोटी काटे जाने की एक और घटना सामने आई है. इस बार पॉश गुलबर्ग कॉलोनी में नकाबपोश व्यक्तियों ने एक घर में घुसकर 10 वर्षीय एक लड़की के उस समय बाल काट दिये जब वह सो रही थी.  घाटी में हालांकि चोटी काटे जाने की कई घटनाएं सामने आई है. पुलिस का कहना है कि ऐसा पहली बार है जब अपराधी रात के समय एक घर में घुस गए.



loading...