ताज़ा खबर

कुलभूषण जाधव मामला: पाक के दावे पर भारत ने कहा- उनकी कोई मजबूरी है जो अपने लोगों से झूठ बोल रहे हैं

2019-07-18_RaveeshKumar.jpg

अंतरराष्ट्रीय अदालत में कुलभूषण जाधव मामले पर मुंह की खाने के बावजूद पाकिस्तान बाज नहीं आ रहा है. पाकिस्तान अदालत के फैसले को अपनी जीत के तौर पर प्रचारित कर रहा है. इस पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाक को जमकर लताड़ लगाई है. रवीश कुमार ने कहा, 'सच बोलूं तो मुझे लग रहा है कि वह कोई और फैसला पढ़ रहे हैं. मुख्य फैसला 42 पन्नों का है. यदि उनके पास 42 पन्ने पढ़ने भर के लिए सब्र नहीं है तो उन्हें सात पन्नों की प्रेस विज्ञप्ति पढ़नी चाहिए, जिसमें हर बिंदु भारत के पक्ष में है.' विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, 'मुझे लगता है कि उनकी अपनी कुछ मजबूरियां हैं, इसीलिए उन्हें अपने ही लोगों से झूठ बोलना पड़ रहा है.

वहीं, रवीश कुमार ने पाकिस्तान में जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद की गिरफ्तारी को ड्रामा करार दिया. रवीश कुमार ने कहा, 'ये गिरफ्तारी-रिहाई, गिरफ्तारी-रिहाई बहुत दिनों से हो रही है. भारत में होने वाली हर बड़ी आतंकी घटना में उसका हाथ होता है, उसे पहले भी गिरफ्तार किया गया था, लेकिन किन्हीं कारणों से छोड़ भी दिया गया था. मेरी गिनती के मुताबिक, यह ड्रामा साल 2001 के बाद से आठ से भी ज्यादा बार हो चुका है.

उन्होंने कहा कि सवाल यह है कि क्या इस बार का पाकिस्तान का यह कदम और ज्यादा बनावटी होगा, क्या अपनी आतंकी गतिविधियों के लिए हाफिज सईद को सजा सुनाई जाएगा. हम उम्मीद करते हैं कि इस बार हाफिज सईद को सजा मिल जाए.

आपको बता दें कि पाकिस्तान सरकार के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया था. इसमें कुलभूषण जाधव मामले में अंतरराष्ट्रीय में पाकिस्तान की जीत बताई गई थी. ट्वीट कुछ इस तरह था, 'पाकिस्तान की बड़ी जीत. आईसीजे ने भारत की कुलभूषण जाधव को रिहा करने और भारत भेजने की मांग खारिज की.


 



loading...