अलकायदा चीफ एमान अल जवाहिरी के वीडियो पर भारत ने कहा- 'ऐसी धमकियां हम सुनते रहते हैं, सुरक्षाबलों के पास जवाब देने के सक्षम साधन

कर्नाटक संकट: सीएम कुमारस्वामी ने कहा- मैं राज्य की जनता से माफी मांगता हूं, बेंगलुरू में अगले 48 घंटे के लिए धारा 144 लागू

बोरिस जॉनसन होंगे ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री, बुधवार को लेंगे शपथ

1984 सिख दंगा: सुप्रीम कोर्ट ने 33 दोषियों को दी जमानत, हाईकोर्ट ने बताया था दोषी

राहुल गांधी ने कहा- ट्रंप के दावे पर विदेश मंत्रालय के इनकार से काम नहीं चलेगा, PM मोदी दें जवाब

डोनाल्ड ट्रंप के मध्यस्थता वाले मुद्दे को सरकार ने किया खारिज, विदेश मंत्री बोले- PM मोदी ने ऐसा कुछ नहीं कहा

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, आम्रपाली ग्रुप की कंपनियों रजिस्ट्रेशन रदद्, NBCC को प्रोजेक्ट पूरा करने का आदेश

2019-07-11_MEA.jpg

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि जैसा कि हमने कहा था अमेरिका के साथ बैठक जारी है, दोपहर के खाने के बाद एक बैठक थी, यह फिर शुरू होगी. ओसाका में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात के समय यह फैसला लिया गया था कि दोनों देशों के अधिकारी मुलाकात करेंगे और व्यापार संबंधी सभी बाकी बचे मुद्दों को हल करेंगे.

आतंकी संगठन अल-कायदा के सरगना एमान अल जवाहिरी के वीडियो को लेकर रवीश कुमार ने कहा, 'ऐसी धमकियां हम सुनते रहते हैं, मुझे नहीं लगता इनको गंभीरता से लेना चाहिए. हमारे सुरक्षाबलों के पास पर्याप्त संसाधन हैं और हमारी क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता को बनाए रखने में सक्षम हैं.

वहीं, करतारपुर कॉरिडोर के मुद्दे पर रवीश ने कहा, 'हम चाहते हैं कि यह प्रोजेक्ट जल्द से जल्द पूरा हो जाए. जहां तक इन्फ्रास्ट्रक्चर की बात है, दो पहलुओं पहलुओं पर काम चल रहा है. इनमें से एक अत्याधुनिक यात्री टर्मिनल है और एक चार लेन का हाईवे है, जो करतारपुर कॉरिडोर के जीरो पॉइंट को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ेगा.' 

रवीश ने कहा, 'हमें उम्मीद है कि दोनों प्रोजेक्ट का काम समय पर पूरा हो जाएगा. यात्री टर्मिनल सितंबर 2019 तक और हाईवे का काम अक्तूबर 2019 तक पूरा होने की उम्मीद है. इसलिए ऐसी रिपोर्ट्स जो यह बता रही हैं कि हमारे प्रोजेक्ट धीमी गति से चल रहे हैं, ये गलत हैं. 



loading...