कोर्ट में रेप के आरोपी ने निकाला निजी अंग, जूरी ने किया बरी

बिना कपड़ों के गुफा में रहता है यह शख्स, मिलने के लिए देश-विदेश की आती हैं लड़कियां

पेरेंट्स जिसे 4 साल तक बेटी समझते रहे वह निकला बेटा, पूरी बात सुनकर चौक जायेंगे आप

इस देश में शादी के बाद 3 दिनों तक दुल्हा-दुल्हन के टॉयलेट जाने पर है रोक, वजह जानकर चौक जायेंगे आप

ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद यह लड़की सीधे पहुंची 14 फीट के मगरमच्छ के साथ फोटो खिचाने, तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल

Video: इस महिला ने सुन्दर दिखने के लिए किया यह अजीबोगरीब काम, देखने के बाद लोगों ने की निंदा

गाय के गोबर से नीदरलैंड में बन रही फैशनेबल ड्रेस, स्टार्टअप करने वाली जलिला एसाइदी को मिला अवार्ड

2018-05-28_rape.jpg

संयुक्त राज्य के कनेक्टिकट में रेप के एक आरोपी को कोर्ट ने बरी कर दिया लेकिन अपने आप को निर्दोष साबित करने के लिए आरोपी ने जो तरीका अपनाया उसे देखकर सभी दंग रह गए. आरोपी ने कोर्ट में ही अपनी पैंट खोलकर अपना प्राइवेट पार्ट दिखाया.

आरोपी के वकील ने कहा कि उसके पास खुद को निर्दोष साबित करने के लिए इसके अलावा कोई तरीकारास्ता नहीं था. उस शख्स पर साल 2012 में एक महिला के साथ बलात्कार करने का आरोप था. महिला ने अपनी शिकायत में बताया था कि जिस व्यक्ति ने उसका रेप किया वह एक अश्वेत था जिसके प्राइवेट पार्ट का रंग बाकी शरीर की तुलना में हल्का था.

साल 2014 में महिला ने एक न्यूज रिपोर्ट में फोटो देखने के बाद डेसमंड जेम्स नाम के शख्स को खुद के साथ बलात्कार करने का आरोपी बताया था. आरोपी के वकील के मुताबिक महीना ने आरोपी ने निजी अंग के बारे में जो जानकारी दी थी वह आरोपी के निजी अंग से नहीं मिलता है. कोर्ट की सुनवाई के समय आरोपी ने अपने निजी अंग की कुछ तस्वीरें भी दिखाई जिससे यह साबित हो कि वह आरोपी नहीं है. 

टॉड ने वॉशिंगटन पोस्ट को दिए एक इंटरव्यू में कहा दुर्भाग्य से, फोटो में फ्लैश की वजह से सब खराब हो गया. इसके बाद आरोपी को कोर्ट में अपना निजी अंग दिखाने के लिए राजी करना काफी मुश्किल था. वकील ने यह भी कहा हमने उसे यह भी बताया कि उसके बचाव में सबसे बड़ा सबूत होगा. जिसके बाद कोई शक नहीं रहेगा. 

इस मामले की जब सुनवाई हुई तो 6 सदस्यों वाली जूरी को पहले इस बारे में जानकारी दी गई. फिर आरोपी ने जूरी बॉक्स के पास खड़े होकर अपनी पैंट का बटन खोला वकील ने बताया  इस पूरी प्रक्रिया सिर्फ 3 से 5 सेकेंड की थी. कोर्ट इसको बहुत बड़ा मसला नहीं बनाना चाहता था. आखिरकार, यह अपमानजनक है. वैसे जूरी के फैसले के बावजूद आरोपी रिहा हुआ. वैसे जेम्स पिछले साल भी एक 10 साल की लड़की के साथ यौन उत्पीड़न का दोषी करार हुआ था. इस समय वह 65 साल की जेल की सजा काट रहा है. 



loading...