ताज़ा खबर

बिहार: केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के दामाद साधु पासवान RJD में हुए शामिल

लोकसभा चुनाव: बिहार में एनडीए ने तय किए उम्मीदवारों के नाम, गिरिराज सिंह की सीट बदली, शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कटा

लोकसभा चुनाव: बिहार महागठबंधन में हुआ सीटों का बंटवारा, RJD को 20 तो कांग्रेस को मिलीं 9 सीटें, गया सीट से जीतनराम मांझी होंगे उम्मीदवार

लोकसभा चुनाव: बिहार में एनडीए में तय हुआ सीटों का बंटवारा, BJP ने अपनी 6 सीटें छोड़ी

चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू यादव की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI से मांगा जवाब

लोकसभा चुनाव: बिहार में मायावती ने महागठबंधन से किया किनारा, सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी BSP

बिहार के गया में प्रेमी जोड़े ने जान देकर चुकाई प्यार की कीमत, पुलिस ने दोषियों को किया गिरफ्तार

2018-03-08_Anil-Kumar-Sadhu.jpg

बिहार के कद्दावर नेता और मोदी सरकार में खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान के दामाद ने उन्हें झटका दिया है. पासवान के दामाद व दलित सेना के अध्यक्ष अनिल कुमार साधू ने लालू यादव की राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) का दामन थाम लिया है. साधू के इस कदम के बाद बिहार में सियासी बयानबाजी का सिलसिला तेज हो गया है. साधू ने स्पष्ट रूप से अपने ससुर और लोक जनशक्ति पार्टी अध्यक्ष राम विलास पासवान पर पार्टी सिद्धांतों और नीतियों से समझौता करने तथा निजी फायदे के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का समर्थन करने का आरोप लगाकर उनपर करारा प्रहार किया.

पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के हिंदुस्तान अवाम मोर्चा-सेकुलर (एचएएम-एस) के शामिल होने के बाद साधू ने बीजेपी-जनता दल (युनाइटेड) गठबंधन को ताजा झटका दिया है. साधू ने कहा, “बिहार और पूरे देश में दलितों के खिलाफ हिंसा में पिछले कुछ महीनों में वृद्धि हुई है लेकिन पासवान और उनके बेटे चिराग इस मुद्दे पर शांत हैं. अगर वे दलित नेता हैं तो उन्होंने अब तक कुछ भी क्यों नहीं कहा है?”

साधू साल 2015 विधानसभा चुनाव में हार गए थे. उन्होंने आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की तारीफ करते हुए उन्हें सामाजिक न्याय का नायक करार दिया. विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने साधू का स्वागत किया. उन्होंने कि वंचितों की आवाज उठाने वाले राजग नेता अब आरजेडी में शामिल हो रहे हैं.



loading...