ताज़ा खबर

स से ‘sलमान’...स से ‘sजा’- राज कुमार गुप्ता

2018-04-09_salmankhancelebrity.jpg

बॉलीवुड के सुल्तान खान को 20 साल बाद सजा मिली वो भी पांच साल की. जोधपुर सेशन कोर्ट ने काला हिरण शिकार काण्ड में उन्हें कसूरवार करार दिया. काले हिरणों के शिकार की घटना 1998 में ‘हम साथ-साथ हैं’ फिल्म की शूटिंग के बीच हुई थी पर यहाँ सवाल उठता है कि इतने साल बाद फैसला आया और उसमें भी सजा का एलान. इस खबर के आने से पूरे हिंदुस्तान में मानों मातम सा पसर गया हो. उनके लाखों चाहने वालों को दुख पहुंचा है. कुछ लोगों के मुताबिक कि इस फैसले में कई संदेश छुपे हैं, जिन पर देश के तमाम सिलेब्रिटीज के साथ-साथ आम नागरिकों को भी ध्यान देना चाहिए. अदालत ने साफ कर दिया है कि दोषी चाहे कितना भी प्रसिद्ध या रसूखवाला क्यों न हो, कानून के फंदे से बच नहीं सकता. पर्यावरण और वन्य जीव जैसे मामले को आम तौर पर संजीदगी से नहीं लिया जाता. इन मामलों में किसी तरह की अनियमितता को लेकर न तो लोग जागरूक होते हैं, न ही प्रशासनिक तंत्र मुस्तैद रहता है. 

काला हिरण मामले में अगर बिश्नोई समाज तत्पर नहीं हुआ होता तो शायद यह इस अंजाम तक नहीं पहुंच पाता. निश्चित रूप से इस केस का सबसे बड़ा संदेश यह है कि सिलेब्रिटी होना एक विशिष्ट जवाबदेही है, जिसका हर हाल में ध्यान रखा जाना जरूरी है.. लोगों ने इन्हें देख लिया तो ये जिप्सी में बैठकर फरार हो गए. आमतौर पर कामयाब और चर्चित लोग यह मानकर चलते हैं कि लोग-बाग उनकी एक झलक के लिए पागल दिखते हैं, लिहाजा वे कुछ भी कर सकते हैं. 

समाज और प्रशासन तंत्र उनकी गलती को अप आप नजरअंदाज कर देगा. ऐसे लोग अपने लिए हर स्तर पर विशेष छूट की अपेक्षा करते हैं, जो अक्सर उन्हें मिल भी जाती है. लेकिन उन्हें समझना चाहिए कि समाज उनका गुलाम नहीं है. लोग उन्हें अपना आदर्श मानते हैं, उनके हर आचरण की नकल करते हैं, इसलिए उनकी यह जवाबदेही बनती है कि वे ऐसा कुछ न करें, जिसे लोग गलत मिसाल की तरह ग्रहण करने लगें. उन्हें नियम-कानून का पालन करना चाहिए, अपने सहयोगियों से मधुर व्यवहार करना चाहिए और सार्वजनिक रूप से ऐसा कोई बयान नहीं देना चाहिए, जिससे समाज में अशांति फैले. आशा की जानी चाहिए कि सलमान प्रकरण से देश की दूसरी सिलेब्रिटीज भी सबक लेंगी. इस प्रकरण में बिश्नोई समुदाय की चर्चा भी जरूर होनी चाहिए, जो विपरीत परिस्थितियों में भी वन्यजीवों से अपने लगाव पर डटा रहा. 

लेकिन सब से ऊपर एक बात ये भी कि अगर स्टार्स की बुरी करतूत के वजह से उनके चाहने वालों पर बुरा असर पड़ता है, तो अगर बॉलीवुड के सितारे जिन्हें हम प्यार करते हैं. अगर वो कुछ अच्छा करते हैं तो हमें उन बातों को भी ध्यान देना चाहिए. समाज और कानून को चाहिए कि अगर कोई सुधर रहा हो ट उसमें उसका साथ देना चाहिए. कुछ सालों पहले वाले सलमान और अब वाले सलमान में ज़मीन आसमान का अंतर है. 

फिलहाल सलमान खान बेल पर बाहर अपने घर में हैं और अगली सुनवाई इस मामले की 7 मई हो होगी.



loading...