कोर्ट ने आरएसएस मानहानि केस में राहुल गांधी पर आरोप तय किए, कहा- मैं निर्दोष हूँ

राहुल गांधी ने 2019 चुनाव से पहले पार्टी में किये बड़े बदलाव, अहमद पटेल को बनाया कोषाध्यक्ष

सरकार ने वॉट्सऐप से कहा- फेक न्यूज और अश्लील मैसेज रोकने के उपाय तलाशें, नहीं तो जुर्माना लगेगा

तेज बहादुर के विडियो से जवानों में हो सकता था विद्रोह, इसलिए नौकरी से डिसमिस किया: सरकार

वाजपेयी जी की याद में प्रार्थना सभा में लाल कृष्ण आडवाणी ने कहा- कभी नहीं सोचा था कि ऐसी सभा को संबोधित करना पड़ेगा जिसमें अटल जी अनुपस्थित रहेंगे

कांग्रेस नेता शशि थरूर को कोर्ट ने जिनेवा जाने की दी मंजूरी, सुनंदा पुष्कर मामले में हैं जमानत पर

PNB Scam: लंदन में छुपा बैठा है नीरव मोदी, सीबीआई ने दी प्रत्यर्पण के लिए अर्जी

2018-06-12_rahul.jpeg

महात्मा गांधी की हत्या के पीछे RSS का हाथ होने का विवादित भाषण देने के मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अब मुश्किल में फंसते दिख रहे हैं. इस मामले में भिवंडी की एक अदालत ने राहुल गांधी के खिलाफ आरोप तय कर दिए. अदालत ने राहुल पर आईपीसी की धारा 499, 500 (आपराधिक मानहानि) के तहत आरोप तय किए. इस मामले में राहुल गांधी ने खुद पर लगे आरोपों को स्वीिकार नहीं किया. मामले की अगली सुनवाई 10 अगस्तर तक की गई है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के एक कार्यकर्ता द्वारा उनके खिलाफ दायर मानहानि के एक मुकदमे में आज मंगलवार को अदालत के समक्ष पेश हुए. राहुल सुबह 11 बजे ठाणे में भिवंडी की एक अदालत में पेश हुए. उनके पेश होने के कारण सुरक्षा के मद्देजनर अदालत और आसपास के क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा रखी गई. इस केस में पेशी के लिए राहुल गांधी महाराष्ट्र के दो दिवसीय दौरे पर मंगलावर सुबह मुंबई पहुंचे थे.

उल्लेषखनीय है कि अदालत ने वर्ष 2014 में RSS कार्यकर्ता राजेश कुंते द्वारा दायर मानहानि के एक मामले में बयान दर्ज कराने के लिए राहुल को अदालत में पेश होने का 2 मई का आदेश दिया था. कुंते ने एक चुनावी रैली में राहुल गांधी का भाषण देखने के बाद मुकदमा दायर किया था. अपने भाषण में राहुल ने कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या के पीछे RSS का हाथ था.



loading...