राहुल गांधी ने कहा- वाजपेयी की गलत नीतियों के चलते बिगड़े कश्मीर के हालात, मोदी सरकार में बढ़ा आतंकवाद

वाइस एडमिरल बिमल वर्मा की याचिका को रक्षा मंत्रालय ने किया खारिज, जानें क्या है मामला

कमल हासन ने ‘हिंदू’ शब्द को लेकर दिया विवादित बयान

सरकार के लिए विपक्ष की मोर्चेबंदी, राहुल गांधी से मिले नायडू, शाम को लखनऊ में अखिलेश-मायावती से करेंगे मुलाकात

लोकसभा चुनाव: PM मोदी और अमित शाह को मिली क्लीनचिट से नाराज चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने EC की मीटिंग से किया किनारा

PM मोदी की 5 साल में पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- फिर बनेगी पूर्ण बहुमत वाली NDA की सरकार

साध्‍वी प्रज्ञा के नाथूराम गोडसे वाले बयान पर पीएम मोदी ने कहा- दिल से कभी माफ नहीं कर पाऊंगा, अनिल सौमित्र को पार्टी से निलंबित किया

2019-03-13_Rahul.jpg

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कश्मीर मसले पर बोलते हुए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पर विवादित टिप्पणी की है. राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि अटल बिहारी वाजपेयी की गलत नीतियों के चलते ही जम्मू-कश्मीर में हालात बिगड़े. उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा जम्मू-कश्मीर के हालात सुधारने की कोशिश करती रही, लेकिन वाजेपयी की गलत नीतियों के चलते आज वहां हालात बिगड़े हैं.

तमिलनाडु में कॉलेज छात्र-छात्राओं के बीच संवाद के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि साल 2004 में जब यूपीए की सरकार बनी तो वहां के हालात काफी बिगड़े हुए थे. वाजपेयी सरकार की गलत राजनीतिक नीतियों के चलते कश्मीर में हालात बिगड़े हुए थे. हमारी सरकार की रणनीति से वहां के हालात सुधरे. हम पाकिस्तान पर दबाव बनाने में सफल रहे. हम जम्मू-कश्मीर की जनता के साथ मेल-जोल बढ़ा रहे थे.

उन्होंने कहा कि साल 2011 से 2013 तक जम्मू कश्मीर में कोई आतंकवाद नहीं था. पीएम मोदी की गलत नीतियों के चलते बीजेपी ने महबूबा मुफ्ती के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर में सरकार चलाई. इसके बाद कश्मीर में हालात बिगड़ गए हैं. मोदी सरकार की गलत नीतियों के चलते पाकिस्तान कश्मीरी लोंगों को आतंकवाद की आग में ढकेलने में सफल हो रहा है. अगर सरकार कश्मीर के लोगों को आतंकवाद और पाकिस्तान से बचाना चाहती है तो उसे रणनीति के तहत काम करना चाहिए.

राहुल गांधी ने कहा, महिलाओं को पुरुषों के बराबर होना चाहिए. सच कहूं तो मुझे शीर्ष स्तर पर पर्याप्त संख्या में महिलाएं नहीं दिखतीं. हम संसद में महिला आरक्षण विधेयक पारित करने जा रहे हैं और हम महिलाओं के लिए 33% सरकारी नौकरियां आरक्षित करने जा रहे हैं.



loading...