ताज़ा खबर

RSS मानहानि केस: कोर्ट में राहुल गांधी ने कहा, मैं निर्दोष हूं, मिली अग्रिम जमानत

2019-07-04_rahul.jpg

कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके राहुल गांधी गुरुवार को आरएसएस मानहानि केस में मुंबई की शिवड़ी कोर्ट में पेश हुए. कोर्ट में सुनवाई के दौरान उन्‍होंने कहा कि मैं मामले में दोषी नहीं हूं, बेकसूर हूं. कोर्ट ने उन्‍हें 15 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दे दी. उनका मुचलका कांग्रेस नेता एकनाथ गायकवाड़ ने भरा. उनके अलावा केस के संबंध में पेशी के लिए माकपा नेता सीताराम येचुरी भी कोर्ट पहुंचे थे. पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड में विवादित बयानबाजी में फंसे राहुल गांधी की अदालत में पेशी थी. राहुल गांधी ने गौरी लंकेश हत्याकांड में विवादास्पद बयान देते हुए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को लेकर आपत्तिजनक बातें कही थीं.

राहुल गांधी ने गौरी लंकेश की हत्या के पीछे आरएसएस का हाथ बताकर विवाद में घिरे थे. राहुल गांधी के इसी बयान पर आपत्ति जताते हुए आरएसएस के स्वयंसेवक और पेशे से वकील धृतमान जोशी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ मुंबई की शिवड़ी कोर्ट में केस फाइल किया था.

अदालत की कई सुनवाई के बाद गुरुवार सुबह को राहुल गांधी की शिवड़ी कोर्ट में पेशी हुई. अदालत में पिछली सुनवाई के दौरान राहुल गांधी के वकीलों ने कोर्ट को बताया था कि लोकसभा चुनाव के प्रचार में व्यस्त होने की वजह से राहुल गांधी कोर्ट में नही आ पाए. कोर्ट ने राहुल को अदालत में पेश होने का आदेश दिया था.
कांग्रेस पार्टी पहले ही बड़े सियासी संकट के दौर से गुजर रही है. बुधवार को कांग्रेस पार्टी में राहुल गांधी की अध्यक्ष कुर्सी पर अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर पार्टी के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का नाम उछला. इस बीच कोर्ट में पेशी के लिए कांग्रेस के युवराज गुरुवार मुंबई में कोर्ट की सुनवाई में हाजिरी लगाने पहुंचे हैं.

राहुल गांधी का पिछले कुछ वक्त से अदालती मामलों में कुछ ज्यादा ही उलझे हुए हैं. गौरी लंकेश हत्याकांड मामले पर आरएसएस पर बयानबाजी राहुल गांधी के गले की फांस बनी है जिसमें उनकी शिवड़ी कोर्ट में पहली बार हाजिरी हो रही है. राहुल गांधी पर मुंबई से सटे भिवंडी कोर्ट में पहले से ही एक केस दायर है. राहुल गांधी ने बयान दिया था कि महात्मा गांधी की हत्या में आरएसएस शामिल था. इसी बयान के खिलाफ आरएसएस के कार्यकर्ता ने राहुल गांधी के खिलाफ भिवंडी कोर्ट में मुकदमा दायर किया था जो अभी भी जारी है.



loading...