पूर्वोत्तर चुनाव परिणाम पर राहुल ने तोड़ी चुप्पी, 'हम जनता के फैसले का सम्मान करते हैं'

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की हालत स्थिर, उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने एम्स पहुंचकर डॉक्टरों से ली तबीयत की जानकारी

कश्मीर मुद्दे पर रूस ने किया भारत का समर्थन, कहा- संविधान के दायरे में हुआ फैसला

आर्टिकल 370: पाकिस्तान ने अब रोकी समझौता एक्‍सप्रेस की सेवा, भारत ने भेजा इंजन, वापस आई ट्रेन

आर्टिकल 370 हटाए जाने को लेकर आज शाम 8 बजे देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

धारा 370 हटाने के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का जल्द सुनवाई से इनकार

अजित डोभाल के कश्मीरियों से मिलने पर तिलमिलाए कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, कहा- पैसे देकर आप किसी को भी साथ ले सकते हो

2018-03-05_rahul-gandhi-in-shillong.jpg

त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय विधानसभा चुनाव नतीजे आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पहली बार इस पर बयान दिया है. राहुल ने ट्वीट कर कहा कि पार्टी त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय की जनता के जनादेश को स्वीकर करती है. हम अपनी पार्टी को पूरे नॉर्थ ईस्ट में मजबूत करने और दोबारा जनता का विश्वास जीतने के लिए प्रतिबद्ध हैं. मैं हर कांग्रेस कार्यकर्ता का धन्यवाद अदा करना चाहता हूं जिसने पार्टी के लिए काम किया.

राहुल गांधी चुनाव नतीजे आने से पहले ही इटली रवाना हो गए थे. उन्होंने ट्वीट कर खुद इसकी जानकारी देते हुए कहा था कि मैं अपनी नानी से मिलने इटली जा रहा हूं. मैं उन्हें सरप्राइज देना चाहता हूं. राहुल ने जाने से पहले देशवासियों को होली की बधाई भी दी थी.

त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय चुनाव में कांग्रेस को करारा झटका लगा है. त्रिपुरा में जहां पार्टी पूरी तरह साफ हो गई है वहीं नगालैंड में भी खाली हाथ रह गई. मेघालय में जरूर वह सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी लेकिन बीजेपी यहां दूसरी पार्टियों के साथ सरकार बनाने की जुगत में लगी है जिसने कांग्रेस को चिंता में डाल दिया है. 3 मार्च को आए विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद सबसे ज्यादा नुकसान में कांग्रेस ही रही. त्रिपुरा में नंबर दो पर रही पार्टी शून्य पर सिमट गई.

त्रिपुरा में बीजेपी ने उलटफेर करते हुए लेफ्ट की सत्ता पलट दी. सीपीएम यहां 25 सालों से सत्ता में थी, लेकिन बीजेपी ने इस बार प्रचंड बहुमत हासिल कर नॉर्थ ईस्ट में अपने बढ़ते प्रभाव का संकेत दे दिया. इसी तरह नगालैंड में भी बीजेपी ने सहयोगी दल एनडीपीप के साथ अच्छा प्रदर्शन किया और बहुमत के करीब पहुंच गई. मेघालय में बीजेपी को निराश हाथ लगी और वह मात्र दो सीटों तक ही पहुंच सकी.



loading...